देर रात ईमेल भेजकर तनाव न बढ़ाएं मैनेजर्स, आखिर Satya Nadella ने क्यों कहा ऐसा?

Microsoft CEO Satya Nadella : माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने आगाह किया है कि देर रात आने वाले ईमेल्स से कर्मचारियों की सेहत पर असर पड़ सकता है। उन्होंने माना कि महामारी के बीच काम और व्यक्तिगत जीवन के बीच की सीमा खत्म हो चुकी है।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नडेला इस सप्ताह की शुरुआत में वार्टन फ्यूचर ऑफ वर्क कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने काम के तनावपूर्ण माहौल पर बात की।

रात को ईमेल का जवाब देने के लिए नहीं बनाएं दबाव

नडेला ने कहा कि मैनेजर्स को कर्मचारियों के लिए स्पष्ट मानदंड सुनिश्चित करने की जरूरत है जिससे “उन्हें रात को ईमेल के जवाब देने के लिए दबाव बनाया जाए।” माइक्रोसॉफ्ट अपने माइक्रोसॉफ्ट टीम प्लेटफॉर्म में सुधार के लिए इस बात पर भी स्टडी कर रही है कि रिमोट वर्क किस तरह से सहभागिता को प्रभावित कर रहे हैं। प्लेटफॉर्म का उद्देश्य कम से कम अपने कस्टमर्स के लिए, महज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सॉल्युशंस की तुलना में ज्यादा की पेशकश करना है।

कर्मचारियों पर तनाव के असर के बारे में हम जानते हैं

पब्लिकेशन की रिपोर्ट के मुताबिक, नडेला ने कॉन्फ्रेंस में कहा, “हम जानते हैं कि कर्मचारियों पर तनाव का क्या असर होता है। हमें सामान्य व्यवहार, पुराने जमाने की अच्छी प्रबंधन प्रक्रियाओं को सीखने की जरूरत है, जिससे लोग अपनी सेहत का ख्याल रखें। मैं उम्मीद कर सकता हूं कि हमारे लोगों को वीकेंड में सीईओ से ईमेल मिल सकते हैं और उनसे आस नहीं लगाई जाए कि वे इसका जवाब दें।”

रात को बढ़ जाता है काम

उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) की एक स्टडी का उल्लेख किया और कहा कि एक तिहाई कर्मचारी कीबोर्ड एक्टिविटी के आधार पर देर शाम तक प्रोडक्टिविटी “उच्चतम स्तर” पर पहुंच जाती है। इससे पहले, लंच के बाद प्रोडक्टिविटी बढ़ गई, लेकिन देर शाम को उनका काम खासा ज्यादा बढ़ जाता है, जिससे उनके मानसिक स्वास्थ्य पर ज्यादा असर पड़ सकता है।

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ कब वीकेंड में ईमेल भेजने से परहेज करेंगे, इस पर नडेला ने कहा कि वह “हर दिन सीख रहे हैं।” उन्होंने यह भी कहा कि विशेष रूप से टेक सेक्टर के कर्मचारी अपनी लोकेशन को लेकर लचीलापन चाहते हैं।

Source

Leave a Comment