कांग्रेसी सांसद बिट्‌टू का तंज़:पहले सिद्धू को ख़ुश कर लो, फिर राहत स्कीमों का ऐलान करो

चंडीगढ़: पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू के रवैए पर सीएम चरणजीत चन्नी और कांग्रेस हाईकमान चुप है। हालांकि लुधियाना से कांग्रेसी सांसद रवनीत बिट्‌टू ने मोर्चा खोला हुआ है। रविवार को पेट्रोल-डीजल पर राहत की घोषणा के मद्देनज़र बिट्‌टू ने फिर बयान दे दिया।

1 4

बिट्‌टू ने ट्वीट किया कि पहले सिद्धू को ख़ुश कर लो, उसके बाद ही पंजाब के लोगों की भलाई के लिए राहत स्कीमों और पैकेज की घोषणा करो। बिट्‌टू यहीं नहीं रूके, उन्होंने कहा कि ऐसा न हुआ तो वह सरकार के उद्देश्य को लेकर फिर से सवाल उठाएंगे। बिट्टू की यह सरकार को नसीहत से ज़्यादा नवजोत सिद्धू के रवैए पर तंज़ था।

सिद्धू को पहले भी घेर चुके

सांसद बिट्‌टू ने पहली बार सिद्धू को नहीं घेरा है। इससे पहले सिद्धू ने शुक्रवार के चंडीगढ़ में प्रेस कान्फ्रेंस कर सीएम चरणजीत चन्नी पर हमला बोल दिया। इसके बाद रवनीत बिट्‌टू ने कहा कि केदारनाथ समझौता टूट गया। दरअसल, पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश चौधरी सीएम चन्नी और सिद्धू को केदारनाथ धाम ले गए थे। तब यह चर्चा थी कि सिद्धू अब सरकार के ख़िलाफ़ बयानबाज़ी नहीं करेंगे लेकिन सिद्धू नहीं रूके।

एकजुटता पर भी उठा चुके सवाल

इससे पहले सांसद बिट्‌टू ने केदारनाथ में हाथ पकड़कर खड़े सिद्धू, हरीश चौधरी और सीएम चन्नी की तस्वीर को लेकर भी तंज़ कसा था। बिट्‌टू ने फ़ोटो ट्वीट करते हुए लिखा कि पंजाब कांग्रेस का युनाइटेड फेस उत्तराखंड में क्यों? पंजाब में क्यों नहीं?

2 1

Leave a Comment