स्पाइसजेट बंद होगी या बचेगी? अब इस पर अंतिम फ़ैसला करेगी..

The News Air- (नई दिल्ली ) बजट एयरलाइन कंपनी SpiceJet एयरलाइंस भुगतान विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुँची है. एयरलाइन ने कंपनी बंद करने के मद्रास हाई कोर्ट के फ़ैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी ने इस याचिका पर तत्काल सुनवाई का आग्रह किया. रोहतगी ने कहा है कि अगर इस मामले को तत्काल नहीं सुना गया तो कंपनी को बंद करने का प्रोसेस शुरू हो जाएगा. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट मामले की सुनवाई के लिए तैयार हो गया. ऐसे में सवाल उठता है कि आख़िर यह पूरा मामला है जिसको लेकर मद्रास हाई कोर्ट ने एयरलाइन को बंद करने की बात कही है.

Credit Suisse ने लगाया है ये आरोप

Credit Suisse AG ने आरोप लगाया है कि Spicejet कंपनी के क़र्ज़े चुकाने में असमर्थ है. दोनों कंपनियों के बीच एक दशक से चला आ रहा यह विवाद क़रीब 180 करोड़ के बक़ाये से संबंधित है. वहीं, एयरलाइन ने एयरक्राफ्ट के मेंटेनेंस, रिपेयर और अन्य सर्विसेज़ के लिए स्विटजरलैंड की SR Technics के साथ एक क़रार किया था. इन दोनों पक्षों ने 2021 में एक सप्लीमेंट एग्रीमेंट किया था, जिसके अनुसार उन्हें SR Technics के बिल का भुगतान करना था. SR Technics ने बिल, एक्सचेंज के सात कॉरेस्पॉन्डिंग बिल और डेट का Acknowledgement रेज किया था. इस मुद्दे पर बाद में हाई कोर्ट में गतिरोध देखने को मिला.

मद्रास हाई कोर्ट ने खारिज कर दी थी स्पाइसजेट की अपील

मद्रास हाईकोर्ट के एकल जज की पीठ ने क्रेडिट सुइस एजी (Credit Suisse AG), स्विटजरलैंड स्थित स्टॉक कॉरपोरेशन और एक लेनदार द्वारा दायर एक कंपनी याचिका पर फ़ैसला सुनाते हुए 7 दिसंबर, 2021 को स्पाइसजेट लिमिटेड को बंद करने का आदेश दिया था. हालांकि इस आदेश को फिर दो हफ़्ते के लिए टाल दिया गया था. इसके बाद स्पाइसजेट ने डिवीजन बेंच में अपील की जिसमें 11 जनवरी को स्पाइसजेट की अपील खारिज करते हुए आदेश पर अमल को 28 जनवरी तक के लिए टाल दिया.

28 जनवरी को मामले की सुनवाई होगी

सुप्रीम कोर्ट के चीफ़ जस्टिस एन वी रमणा ने कहा कि इस मामले की सुनवाई 28 जनवरी को होगी. एयरलाइन के भविष्य के लिए सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला काफ़ी अहम होगा.

Spicejet का घाटा बढ़ा

चालू वित्त वर्ष के दूसरे क्वार्टर में गुड़गांव बेस्ड SpiceJet का घाटा बढ़कर 561 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. पिछले एक साल में कंपनी के स्टॉक में क़रीब 30 फ़ीसदी की गिरावट आई है.

Leave a Comment