देश की सीमा पर मिला मानव कंकालों का संग्रह, क्या है 28 खोपड़ियों का राज?..


अररिया, 7 अक्टूबर (The News Air)

भारत-नेपाल सीमा पर उस समय सनसनी फैल गई जब एक वैन से मानव कंकाल मिला। नेपाल सशस्त्र बल यानी एपीएफ ने बिहार के अररिया से नेपाल जा रही एक टैक्सी से 28 मानव कंकाल बरामद किए हैं. भारतीय सीमा क्षेत्र जोगबनी होते हुए नेपाल जा रही एक नेपाली टैक्सी से भारी संख्या में मानव कंकाल बरामद होने से नेपाल और भारत की सुरक्षा एजेंसियां ​​सतर्क हो गई हैं। जब्त वाहन में नेपाली नंबर है लेकिन यह फर्जी नंबर बताया जा रहा है।

खोपड़ियों की संख्या अधिक है
मामला 4 अक्टूबर की देर शाम का बताया जा रहा है. वैन भारत से नेपाल जा रही थी। नेपाल सशस्त्र बलों ने सीमा में घुसकर इसकी तलाशी ली। उसमें कंकाल देख सभी के होश उड़ गए। मानव कंकालों में सबसे अधिक खोपड़ी और जांघ की हड्डी पाई गई है। पहले तो लगा कि ये जानवरों के कंकाल हैं लेकिन बाद में इसके मानव कंकाल होने की पुष्टि हुई। भारतीय सीमा पर तैनात एसएसबी का कहना है कि इन वैन ने भारतीय सीमा को पार नहीं किया है। ऐसे में मामला बेहद संवेदनशील बताया जा रहा है. एसएसबी ने अलर्ट जारी किया है। इस बीच, नेपाल सशस्त्र बलों ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है।

जांच के दौरान चालक फरार
स्थानीय लोगों के अनुसार जोगबनी रेलवे स्टेशन पर नेपाल नंबर वाली टैक्सियां ​​रखी जाती हैं। भारत के प्रमुख शहरों से नेपाल लौटने वाले यात्री इन पर सवार होकर नेपाल के शहरों में जाते हैं। इसी कड़ी में उस दिन एक खाली टैक्सी नेपाल जा रही थी. नेपाली पुलिस ने रानी क्षेत्र में सीमा शुल्क के पास वाहन की जांच की तो चालक भारतीय क्षेत्र में घुस गया और फरार हो गया। हालांकि नेपाली पुलिस ने मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और उनसे पूछताछ कर रही है।

बिहार के इस क्षेत्र में पंचायत चुनाव
बता दें कि भारतीय सीमा क्षेत्र में इन दिनों पंचायत चुनाव का माहौल है। इसको लेकर पुलिस और एसएसबी काफी सतर्क है। सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए हर स्तर पर जांच की जा रही है। लेकिन 4 अक्टूबर की शाम को नेपाल नंबर के साथ वाहन की सीमा पार करते समय यह बताना जरूरी है कि किन परिस्थितियों में जांच नहीं हुई या इसके पीछे की सच्चाई क्या है।


Leave a Comment