WFI Row: पहलवानों का आंदोलन खत्म, समिति का होगा गठन; जांच होने तक ..

नई दिल्ली (The News Air) भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने वाले पहलवानों ने शुक्रवार-शनिवार की देर रात तक खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के आवास पर उनसे मुलाकात की। सात घंटे तक चली इस बैठक में एक निरीक्षण समिति का गठन करने का फैसला लिया गया। इसमें नामों की घोषणा कल (शनिवार) की जाएगी। वहीं, जांच पूरी होने तक बृजभूषण सिंह WFI के कार्यों से अलग रहेंगे।

चार सप्ताह में होगी पूरी जांच

बैठक खत्म होने के बाद केंद्रीय खेल मंत्री और खिलाड़ियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। अनुराग ठाकुर ने कहा, “बैठक के दौरान खिलाड़ियों ने अपनी मांगें रखीं और हमने इस पर चर्चा की। हमने भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) को नोटिस जारी किया था जब आरोप लगाए गए थे और उन्हें 72 घंटे के भीतर जवाब देने के लिए कहा था।”

उन्होंने कहा, “यह निर्णय लिया गया है कि एक निरीक्षण समिति का गठन किया जाएगा और नामों की घोषणा कल की जाएगी। समिति 4 सप्ताह में अपनी जांच पूरी करेगी। समिति WFI और उसके प्रमुख के खिलाफ लगाए गए सभी आरोपों की गहन जांच करेगी।”

WFI के कार्यों से अलग रहेंगे बृजभूषण सिंह

खेल मंत्री ने कहा, “जांच पूरी होने तक एक कमेटी दैनिक कार्यकलाप को देखेगी। तब तक भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह अपने आप को दैनिक कार्यकलाप से अलग रखेंगे और जांच में सहयोग करेंगे।”

आंदोलन बंद की घोषणा

वहीं, पहलवान बजरंग पूनिया ने कहा, “केंद्रीय खेल मंत्री ने हमारी मांगों को सुना और उचित जांच का आश्वासन दिया और सभी को समझाया भी है। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं और हमें उम्मीद है कि निष्पक्ष जांच होगी। हम खिलाड़ी अपने आंदोलन को बंद कर रहे हैं क्योंकि हमें सरकार ने आश्वासन दिया है। हमें विश्वास है कि हमें न्याय मिलेगा।”

यह भी पढ़ें

क्या है मामला?

गौरतलब है कि, भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) और WFI के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Singh) के खिलाफ यौन शोषण के आरोप लगाए जाने पर फिलहाल बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और अन्य रेसलर जंतर-मंतर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। इसके साथ ही ओलंपियन पहलवान विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया सहित 30 से अधिक पहलवानों ने कुश्ती महासंघ पर शोषण का और बृजभूषण सिंह पर मनमाने तरीके से संघ को चलाने का भी गंभीर आरोप लगाया है। जिस पर जवाब देते हुए बृजभूषण सिंह ने कहा कि अगर यह आरोप अगर सिद्ध हुए तो वो फांसी लगा लेंगे।

 

Leave a Comment