मालवा में चला दीप सिद्धू ‘फैक्टर’:झाड़ू की जगह इस पार्टी के लिए हुई वोटिंग

The News Air- पंजाब के मालवा रीजन में हुई बंपर वोटिंग में अब नया फैक्टर सामने आ गया है। यह असर एक्टर दीप सिद्धू का रहा। जिनकी वजह से शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के लिए वोटिंग हुई। वहीं जहां इस पार्टी के कैंडिडेट नहीं थे, वहाँ संयुक्त समाज मोर्चा (SSM) को उसका लाभ मिला। इस वजह से आम आदमी पार्टी बड़ी चिंता में है। अगर ऐसा हुआ तो कांग्रेस ख़ुद के लिए फ़ायदा देख रही है। राजनीतिक विश्लेषक तो यहां तक कह रहे हैं कि आम आदमी पार्टी को उतना नुक्सान कवि कुमार विश्वास के बयानों से नहीं हुआ, जितना दीप सिद्धू की वजह से झेलना पड़ सकता है।

दीप सिद्धू ने की थी अपील, झाड़ू नहीं गुरु ने तलवार दी

एक्टर दीप सिद्धू पंजाब विधानसभा चुनाव में अकाली दल अमृतसर के लिए प्रचार कर रहे थे। पार्टी के प्रधान सिमरनजीत सिंह मान के लिए उन्होंने चुनावी सभा की। जिसमें दीप सिद्धू ने एक हाथ में तलवार और दूसरे में झाड़ू पकड़ा। दीप ने कहा कि गुरुओं ने हमें झाड़ू नहीं तलवार पकड़ाई थी। दीप ने यहां तक कहा कि झाड़ू पकड़ने का मतलब तो शर्म से मरने वाली बात है। उनकी मौत के बाद यह वीडियो ख़ूब वायरल हुआ था।

पहली बार मुक़ाबले में सिमरनजीत मान

अकाली दल अमृतसर के प्रधान सिमरनजीत मान अमरगढ़ से चुनाव लड़ रहे हैं। वह हर चुनाव लड़ते रहे हैं लेकिन लंबे समय से जीत नहीं मिली। इस बार दीप सिद्धू के निधन के बाद उनके हक़ में युवा लामबंद हो गए। इसे दीप सिद्धू की ख्वाहिश क़रार देते हुए जमकर वोटिंग की गई। जिसके बाद राजनीतिक विश्लेषक भी मान रहे हैं कि अगर मान इस बार जीत जाएं तो यह कोई चौंकाने वाली बात नहीं होगी।

पढ़िए.. कांग्रेस को कैसे होगा फ़ायदा

अगर दीप सिद्धू फैक्टर की वजह से वोट अकाली दल अमृतसर और संयुक्त समाज मोर्चा को वोट मिली होगी तो तय है कि इससे आम आदमी पार्टी की वोट कटी होगी। इससे कांग्रेस को फ़ायदा मिलेगा क्योंकि कांग्रेस अपने पक्के वोट बैंक पर निर्भर है। अगर बदलाव की बात वाली वोट आप को नहीं मिली तो फिर कांग्रेस सत्ता में रहने के फ़ायदे से सीटें जीत सकती है। दीप सिद्धू फैक्टर ने ज़्यादा ज़ोर तब पकड़ा, जब उनका सड़क हादसे में निधन हुआ। उसके बाद उनके वीडियो और फ़ोटो ख़ूब वायरल हुए। जिसके बाद लोग अकाली दल अमृतसर की तरफ़ आकर्षित हुए।

Leave a Comment