VIDEO: पंजाब में अब ‘वन MLA-वन पेंशन’:CM भगवंत मान ने कहा- चाहे कितनी बार..

he News Air- पंजाब में अब एक विधायक को एक ही बार पेंशन मिलेगी, चाहे वह कितनी ही बार चुनाव जीता हो। शुक्रवार को CM भगवंत मान ने यह जानकारी दी। मान ने कहा कि जब विधायक सेवा के नाम पर राजनीति में आते हैं तो फिर लाखों की पेंशन देना जायज़ नहीं है। मान ने कहा कि विधायक ही नहीं बल्कि उनके परिवारों को मिल रही पेंशन को भी रिवाइज किया जाएगा। मान ने कहा कि आने वाले दिनों में इसके बारे में विस्तृत जानकारी दे दी जाएगी।

आप सरकार के इस फ़ैसले से सबसे बड़ा झटका कांग्रेस और अकाली दल को लगा है। प्रकाश सिंह बादल, कैप्टन अमरिंदर सिंह के अलावा राजिंदर कौर भट्‌ठल समेत अकाली दल और कांग्रेसी दिग्गजों को लगा है। जिन्हें कई बार विधायक रहने की वजह से लाखों रुपये की पेंशन मिल रही थी।

सवा 5 लाख तक मिल रही पेंशन

CM भगवंत मान ने कहा कि हमारे MLA हाथ जोड़कर लोगों से वोट मांगते हैं। कई राज़ नहीं सेवा की बात कहते हैं। हैरानी की बात यह है कि बहुत से MLA को हारने के बाद साढ़े 3 लाख से सवा 5 लाख तक पेंशन मिलती है। ख़ज़ाने पर करोड़ों रुपयों का बोझ पड़ता है। कई ऐसे हैं, जो सांसद और MLA दोनों की पेंशन ले रहे हैं।
अब MLA चाहे 2 बार जीते या 7 बार, उसे पेंशन सिर्फ़ एक ही टर्म की मिलेगी। इसके साथ ही पेंशन से जो करोड़ों रुपया बचेगा, उसे लोगों की भलाई पर ख़र्च किया जाएगा। कई विधायकों की फैमिली पेंशन भी बहुत ज़्यादा हैं, उन्हें भी कम किया जा रहा है।

पंजाब में सबसे ज़्यादा पेंशन पूर्व CM को

पंजाब में सबसे ज़्यादा पेंशन 5 बार CM रह चुके प्रकाश सिंह बादल की बनती है। उन्हें क़रीब पौने 6 लाख की पेंशन मिलनी थी। हालांकि उन्होंने कुछ दिन पहले ही पेंशन लेने से इन्कार कर दिया। उनके अलावा 6 बार विधायक रहीं पूर्व CM राजिंदर कौर भट्‌ठल, लाल सिंह, पूर्व मंत्री सरवण सिंह फिल्लौर को 3.25 लाख, 5 बार विधायक रहे बलविंदर सिंह भूंदड़ और सुखदेव ढींढसा को सवा 2 लाख रुपए पेंशन मिलती है। इनको बतौर राज्यसभा सदस्य अलग से वेतन, पेंशन और भत्ते भी मिलते हैं। इस बार कैप्टन अमरिंदर सिंह भी चुनाव हारे हैं तो उन्हें भी लाखों की पेंशन मिलनी थी।

3 लाख करोड़ का क़र्ज़दार पंजाब

पंजाब पर क़रीब 3 लाख करोड़ का क़र्ज़ा है। गुरूवार को दिल्ली में PM नरेंद्र मोदी से मिलने के बाद CM भगवंत मान ने ख़ुद इसे क़बूल किया था। पंजाब की वित्तीय हालत को देखते हुए उन्होंने केंद्र से 1 लाख करोड़ का पैकेज भी मांगा था।

Leave a Comment