Tokyo Olympics 2020: भारत को मिला एक और ब्रॉन्ज मेडल, सेमीफाइनल में हारीं लवलीना

नई दिल्ली, 4 अगस्त (The News Air)
 टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020) में भारत की लवलीना बोरगोहेन बुधवार को महिला वेल्टर (64-69 किग्रा) वर्ग में तुर्क़ी की शीर्ष वरीयता प्राप्त बुसेनाज़ सुरमेनेली से सेमीफाइनल में हार गईं। इसके साथ ही कांस्य पदक के साथ, लवलीना विजेंदर सिंह और मैरी कॉम के बाद ओलंपिक जीतने वाली तीसरी भारतीय मुक्केबाज़ बन गईं।
महिला वेल्टर (64-69 किग्रा) वर्ग के सेमीफाइनल में पहले राउंड में लवलीना ने विश्व चैंपियन और ओलंपिक पदक विजेता बुसेनाज के ख़िलाफ़ मुक्कों की बरसात की, लेकिन जजों ने पहले राउंड में सर्वसम्मति तुर्क़ी की पहलवान के प्रहारों को ज़्यादा प्रभावी माना और 5-0 से उनके पक्ष में फ़ैसला दिया। दूसरे राउंड में भी बुसेनाज सुरमेनेली भारतीय मुक्केबाज़ पर भारी रही। इस राउंड में लवलीना पर एक वार्निंग अंक की पेनाल्टी भी लग गई। जिसके चलते उन्हें दूसरे राउंड में भी हार का सामना करना पड़ा। पहले दो राउंड हारने के बाद, भारत की लवलीना बोरगोहेन तीसरे और मैच में तुर्क़ी की शीर्ष वरीयता प्राप्त बुसेनाज सुरमेनेली के ख़िलाफ़ से 5-0 से हार गईं।
बता दें कि इस मुक़ाबले में हार के बावज़ूद लवलीना को कांस्य पदक मिला है, क्योंकि मुक्केबाज़ी में सेमीफाइनल में हारने वाले दोनों मुक्केबाज़ों के कांस्य पदक दिया जाता है। वह ओलंपिक खेलों के 125 साल के इतिहास में मेडल हासिल करने वाली पहली असम की महिला हैं। उनसे पहले बीजिंग ओलंपिक खेल-2008 में विजेंद्र सिंह (Vijender Singh) और लंदन ओलंपिक खेल-2012 में एमसी मेरीकॉम (MC Mary Kom) ने भारत के लिए ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था।
खेल मंत्री ने दी बधाई
खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने टोक्यो ओलंपिक में कांस्य मेडल हासिल करने के बाद लवलीना को ट्वीट कर बधाई दी। उन्होंने लिखा कि, ‘लवलीना आपने अपना सर्वश्रेष्ठ पंच दिया! आपने जो हासिल किया है उस पर भारत के ध्वज को बहुत गर्व है। आपने अपने पहले ओलंपिक में तीसरा स्थान हासिल किया है। ये जर्नी अभी शुरू हुई है। बहुत बढ़िया लवलीना बोरगोहेन।’

Leave a Comment