राम रहीम की सल्तनत पर इस शख़्स का होगा ‘कब्ज़ा’, जेल से आई गुरमीत की 9वीं चिट्‌ठी

The News Air-सिरसा डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम की सल्तनत पर उसकी मुँहबोली बेटी हनीप्रीत ने अधिकार ज़माने के लिए तिकड़म लड़ाने शुरू कर दिए हैं। डेरा प्रबंधन और राम रहीम के परिवार में मतभेदों की ख़बरों के बीच जेल से राम रहीम की चिट्‌ठी सामने आई है।

चिट्‌ठी में मतभेदों पर राम रहीम की सफ़ाई साफ़ झलक रही है। साथ ही वह अपने परिवार के विदेश में सेटल होने की बात भी कह रहा है। रोहतक की सुनारिया जेल से डेरा प्रेमियों के नाम गुरमीत की यह 9वीं चिट्‌ठी है।
रविवार को डेरा सच्चा सौदा सिरसा स्थित शाह सतनाम धाम में नाम चर्चा के दौरान डेरा प्रेमियों के नाम लिखी राम रहीम की चट्टी पढ़कर सुनाई गई। राम रहीम ने एक बार फिर सभी धर्मों का आदर करने और ख़ुद ही ‘गुरु’ होने की बात दोहराई है।

वहीं, मतभेद की चर्चाओं के बीच पहली बार डेरा प्रमुख ने पारिवारिक सदस्यों और हनीप्रीत का ज़िक्र किया। इससे उसने पारिवारिक रिश्तों में तल्ख़ियों की बात पर विराम लगाने का प्रयास किया।। साथ ही कहा कि उसका परिवार अब विदेश में सेटल होने जा रहा है। डेरा प्रमुख के तीनों बच्चों और दामाद सहित पूरे परिवार का विदेश जाना तय है। डेरा प्रमुख की मां नसीब कौर और उसकी पत्नी हरजीत कौर भी विदेश में ही रहेंगी।

डेरा प्रमुख का दावा- सभी एकजुट

डेरा प्रमुख ने चिट्‌ठी में पहली बार अपने परिवार के सदस्यों के नाम लिए हैं। साथ ही ज़िक्र किया कि सभी लोग उन्हें लेने आए। पत्र के माध्यम से डेरा प्रेमियों को संदेश देते हुए डेरा प्रमुख ने लिखा कि हमारे सारे सेवादार, एडमिन ब्लॉक सेवादार, जसमीत, चरणप्रीत, हनीप्रीत, अमरप्रीत सब एक हैं और हमारे वचनों पर चलते हैं। चारों हमें रोहतक इकट्ठे छोड़ने आए और वापस भी चारों इकट्‌ठे गए। जसमीत, चरणप्रीत और अमरप्रीत ने हमसे आज्ञा ली है कि ‘उच्च शिक्षा’ प्राप्ति के लिए वो अपने बच्चों के साथ उन्हें पढ़ाने विदेश जाएंगे। इसलिए प्यारी साध-संगत जी आपने किसी के भी बहकावे में नहीं आना है।

फरलो के दौरान लिखी गई पूरी पटकथा

डेरे की अंदरूनी राजनीति और हनीप्रीत से मनमुटाव के कारण ही डेरा प्रमुख का परिवार विदेश जा रहा है। डेरा प्रमुख के परिवार के विदेश जाने की ख़बर से स्पष्ट है कि डेरे की कमान बैक डोर से हनीप्रीत के पास होगी। डेरे से जुड़े सूत्रों के अनुसार राम रहीम की 21 दिन की फरलो के दौरान ही यह पूरी पटकथा लिखी गई। इस दौरान निवर्तमान चेयरपर्सन डॉ विपासना इंसा की जगह अब डॉ. पीआर नैन को नया चेयरपर्सन बना दिया गया है। डेरा मैनेजमेंट में भी कुछ बदलाव किए हैं। इसमें हनीप्रीत के समर्थकों को नई ज़िम्मेदारी दी गई है। इसका अंदाज़ा इस बात से लगा सकते हैं कि गुरु ग्राम में डेरे के स्वच्छता अभियान के दौरान पहली बार हनीप्रीत ने अपना वीडियो जारी किया।

चिट्‌ठी में और भी कई बातें…

  • डेरा प्रमुख ने चिट्‌ठी में रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के जल्दी ख़त्म होने और विश्व में शांति स्थापना की प्रार्थना की और साध-संगत से भी ऐसा करने का आह्वान किया।
  • डेरा प्रमुख ने लिखा कि कभी किसी धर्म की निंदा, बेअदबी या बुराई करनी तो दूर ऐसी कल्पना भी नहीं की। वह तो सर्वधर्म का ‘सत्कार’ करते हैं और सबको ‘सत्कार’ करने की शिक्षा देते हैं।
  • अप्रैल में डेरा सच्चा सौदा के ‘स्थापना दिवस’ के अवसर पर भंडारे का आयोजन होता है। पता चला है कि साध-संगत अप्रैल में रोहतक में भी ‘सफ़ाई महाअभियान’ करना चाहती है इसलिए डेरा सच्चा सौदा के चेयरपर्सन डॉ. पीआर नैन इन्सां और ज़िम्मेदार प्रशासनिक अनुमति लेकर यह सेवा करें।
  • डेरा प्रमुख ने 6 मार्च को साध-संगत की ओर से गुरु ग्राम में चलाए सफ़ाई महाअभियान की प्रशंसा में लिखा कि हमारे गुरु ग्राम से आने के बाद आपने वहाँ ‘सफ़ाई महा अभियान’ चलाकर श्रद्धा की बेमिसाल ‘मिसाल’ कायम की।
  • डेरा प्रमुख ने लिखा कि साध-संगत हमेशा बढ़-चढ़कर आश्रम में आती रहे। हम आपके गुरु थे, हैं और हमेशा गुरु रूप में वचन देते हैं कि जितनी बार आप आश्रम में आएंगे, हर बार आगे से चौगुनी खुशीयां व बरकतें हम परम पिता सतगुरु से दिलवाएंगे।

सुनारिया जेल में बंद है राम रहीम

2017 से साधवी यौन शोषण मामले में डेरा प्रमुख सज़ा काट रहा है। उसे पत्रकार छत्रपति और रणजीत हत्याकांड में भी उसे सज़ा हो चुकी है। राम रहीम को इसी साल पंजाब चुनाव से ठीक पहले 7 फरवरी को 21 दिन की फरलो मिली थी। गौरतलब है कि पंजाब में AAP सरकार बनने के बाद दो नए केसों में डेरा प्रमुख का नाम जोड़ा गया है। इनमें विवादित पोस्टर लगाने और श्री गुरु ग्रंथ साहिब के पावन अंग मिलने के मामले शामिल हैं।

Leave a Comment