505 दिनों तक कोरोना पॉजिटिव रहा यह शख्स, वैज्ञानिक भी इस अनोखे केस से हैरान

ब्रिटेन में एक बेहद कमजोर इम्यूनिटी सिस्टम वाला व्यक्ति करीब डेढ़ सालों तक कोरोना वायरस से संक्रमित (Covid Positive) रहा और फिर उसकी मौत हो गई। ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने यह जानकारी दी है। हांलाकि अभी यह पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता है कि क्या यह सबसे लंबे समय तक कोरोना पॉजिटिव रहने का रिकॉर्ड है। वैज्ञानिकों ने कहा कि अभी ऐसे सबी मरीजों के संक्रमण की जांच नहीं हुआ है।

गायज एंड सेंट थॉमस के NHS फाउंडेशन ट्रस्ट के महामारी एक्सपर्ट डॉ. ल्यूक ब्लैगडन स्नेल ने बताया, ‘मरीज अपनी मौत से पहले करीब 505 दिनों तक कोरोना पॉजिटिव रहा है। यह यह निश्चित तौर पर सबसे लंबे समय तक संक्रमित रहने का मामला लगता है। स्नेल की टीम कोरोना वायरस से लंबे समय तक संक्रमित रहे ऐसे कई मामलों की स्टडी कर रही है।

इस स्टडी में यह पता लगाया गया है कि लंबे समय तक कोविड पॉजिटिव रहने वाले मरीजों में किस प्रकार के म्यूटेशंस होते हैं और क्या इससे कोरोना के नए वेरिएंट पैदा होते हैं। टीम ने कम से कम आठ सप्ताह तक कोविड पॉजिटिव रहे नौ मरीजों को अपनी स्टडी में शामिल किया है।

स्टडी में पता चला कि लंबे समय तक कोविड पॉजिटिव रहने वाले सभी मरीजों में अंग प्रत्यारोपण, HIV, कैंसर या अन्य बीमारियों के इलाज के कारण इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर था। बार-बार जांच से पता चला कि वे औसतन 73 दिनों तक पॉजिटिव रहे। दो मरीजों को एक साल से भी अधिक वक्त तक कोरोना संक्रमण रहा।

इससे पहले रिसर्चर्स के सामने 335 दिनों तक कोविड पॉजिटिव रहने वाले एक मरीज का मामला सामने आया था। उस वक्त इसे ही किसी भी व्यक्ति के सबसे अधिक समय तक कोविड पॉजिटिव रहने का मामला माना जा रहा था।

स्नेल ने कहा, “लंबे समय तक कोविड पॉजिटिव रहने में यह माना जाता है कि वायरस आपके शरीर से निकल गया है लेकिन उसके लक्षण अभी बने हुए हैं। लगातार संक्रमण में वायरस शरीर में बना रहता है।”

जो व्यक्ति 505 दिनों तक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, वह 2020 की शुरुआत में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था और उसका इलाज रेमेडेसिविर से किया गया था, लेकिन 2021 में उसकी मौत हो गयी।

वैज्ञानिकों ने मौत की वजह बताने से इनकार कर दिया और कहा कि इस मरीज को कई अन्य बीमारियां थीं। पांच मरीज बच गए। दो बिना इलाज के ही संक्रमण से ठीक हो गए, दो इलाज के बाद संक्रमण से उबरे और एक अब भी पॉजिटिव है।

Leave a Comment