8 जनवरी को चंडीगढ़ मेयर चुनाव: AAP से मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर व डिप्टी मेयर के पद पर यह होंगे उम्मीदवार

The News Air- (चंडीगढ़) चंडीगढ़ नगर निगम के मेयर का चुनाव 8 जनवरी को सुबह 11 बजे सदन में होगा। उम्मीदवार अपने नामांकन 4 जनवरी की शाम 5 बजे तक भर सकते हैं। आम आदमी पार्टी ने मेयर पद के लिए अंजू कत्याल, सीनियर डिप्टी मेयर के लिए प्रेम लता और डिप्टी मेयर के लिए रामचंद्र यादव का नाम घोषित कर दिया है।

चंडीगढ़ के डीसी ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। प्रिजाइडिंग ऑफ़िसर काउंसलर महेश इंद्र सिंह सिद्धू को बनाया गया है। मेयर का पद महिला के लिए आरक्षित है।

18 का बहुमत ज़रूरी

मेयर चुनने के लिए 35 में से 18 पार्षदों का बहुमत ज़रूरी है। सांसद को भी वोट करने का अधिकार है। आम आदमी पार्टी ने सोमवार को 14 पार्षदों को दिल्ली बुला लिया। वहीं कांग्रेस भी अपने 8 पार्षदों को लेकर जयपुर चली गई। चुनाव में किसी एक पार्टी को बहुमत नहीं मिला है।

बबला के पाला बदलने के बाद ये है गणित

कांग्रेसी पार्षद हरप्रीत कौर बबला के भाजपा में शामिल होने के बाद आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को अपने बाक़ी पार्षदों के दल बदलने का भय सताने लगा है। इसी के मद्देनज़र पार्टियां अपने पार्षदों को दिल्ली और जयपुर ले गईं । चंडीगढ़ नगर निगम में आप के 14, भाजपा के 12 और कांग्रेस के 8 पार्षद थे। एक अकाली दल का पार्षद जीता था। कांग्रेसी की एक पार्षद हरप्रीत कौर बबला भाजपा में शामिल हो गई थी। ऐसे में अब कांग्रेस के पास 7 पार्षद रह गए।

रविवार को बबला शामिल हो गए थे भाजपा में

चंडीगढ़ कांग्रेस के उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह बबला का पार्टी अध्यक्ष सुभाष चावला के साथ विवाद हो गया था, जिसके बाद उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। पार्टी ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए उन्हें रविवार को पार्टी से बाहर कर दिया। साथ ही बबला पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में भाग लेने के आरोप भी लगाया।

पार्टी प्रभारी हरीश चौधरी ने इस संबंध में पत्र जारी किया। इसके बाद चंडीगढ़ भाजपा सांसद किरण खेर की उपस्थिति में देवेंद्र बबला ने भाजपा जॉइन की। इससे पहले शनिवार को चंडीगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चावला और उपाध्यक्ष देवेंद्र बबला के बीच निगम कार्यालय में विवाद हो गया था। बबला ने कहा था कि दो आदमियों के कारण कांग्रेस का नुक्सान हुआ है।

Leave a Comment