पार्टी आलाकमान ने सिद्धू का इस्तीफा नहीं किया स्वीकार, CM चन्नी को मिली सिद्धू को मनाने की जिम्मेदारी

चंडीगढ़, 29 सितंबर (The News Air)
कांग्रेस (Congress) ने पंजाब (Punjab) के पार्टी नेताओं में चल रही कलह को थामने की कोशिश तेज कर दी है. सूत्रों के मुताबिक पार्टी आलाकमान ने नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का इस्तीफा न स्वीकार करने का फैसला किया है. वे पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहेंगे.

CM चन्नी को मिली सिद्धू को मनाने की जिम्मेदारी-सूत्रों के मुताबिक पंजाब में विवादों को शांत करने के लिए कांग्रेस हाई कमान ने सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को मनाने की कोशिश शुरू कर दी है. उन्हें इस्तीफा वापस लेने के लिए मनाने का जिम्मा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को सौंपा गया है. इस घटनाक्रम पर अब तक सिद्धू का कोई रिएक्शन सामने नहीं आया है.

गुलाम नबी आजाद ने सोनिया को लिखा पत्र-पंजाब में पार्टी नेताओं के बीच चल रहे विवाद के बीच नाराज कहे जाने पार्टी के G-23 के नेता भी सक्रिय हो गए हैं. पार्टी के सीनियर नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है. इस पत्र में उन्होंने मौजूदा हालात पर चर्चा के लिए तुरंत पार्टी की कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि पार्टी नेताओं को मिल-बैठकर इस पूरे मुद्दे का सकारात्मक ढंग से हल निकालना चाहिए.

कपिल सिब्बल ने की पार्टी में चुनाव की मांग-उनसे पहले G-23 के ही एक अन्य नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने बुधवार को प्रेस वार्ता करके कांग्रेस नेतृत्व पर कई सवाल उठाए थे. कपिल सिब्बल ने पूछा कि पार्टी में इस वक्त कोई अध्यक्ष नहीं है. फिर पार्टी से जुड़े सारे अहम फैसले कौन ले रहा है. उन्होंने कहा कि पार्टी में सुधार के लिए हम लोगों ने पिछले साल अगस्त में हाई कमान को पत्र लिखा था लेकिन उस पर अब तक कोई जवाब नहीं आया है. उन्होंने पार्टी में अध्यक्ष, कांग्रेस कार्य समिति और केंद्रीय चुनाव समिति के इलेक्शन करवाने की मांग भी उठाई.

Leave a Comment