शिक्षक का सम्मान, समाज की सुरक्षा: ललिता

शिक्षक दिवस से पूर्व शिक्षक दिवस से पूर्व दिल्ली के सर्वोदय कन्या विद्यालय विश्वास नगर की शारीरिक शिक्षा की अध्यापिका ललिता को शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया व शिक्षा समिति के अध्यक्ष कालकाजी से विधायक आतिशी  ने प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिन्ह सम्मानित किया इस अवसर पर ललिता अध्यापक ने कहा शिक्षा समाज का वरदान है, और इस वरदान के सारथी शिक्षक हैं। शिक्षक समाज को सही राह दिखाते हैं, भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करते हैं। वैज्ञानिक, अधिकारी, राष्ट्र निर्माताओं का निर्माण अध्यापक की ही गोद में होता है। दिल्ली के शिक्षा व्यवस्था को शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया मनीशी बन उन्नति की ओर ले जा रहे हैं। शिक्षकों को महत्व, मान, ज्ञान से भर रहे हैं तो दूसरी ओर विद्यालयो का कायाकल्प कर शिक्षा का बेहतरीन वातावरण बना रहे हैं। ऐसे पहले कभी नहीं हुआ दिल्ली में सरकारी विद्यालय सज संवर कर निजी संस्थानों से आगे खड़े है। सुंदर खेलने के मैदान, स्मार्ट बोर्ड से सजे क्लासरूम, सुविधाओं का अंबार, नई सोच का विस्तार, खुशियों की कक्षाएं यह स्वप्न सरीखा काम सिसोदिया जी का शिक्षा, शिक्षकों, शिक्षार्थियों पर बड़ा उपकार है, जिसे दिल्ली स्वीकार कर आगे बढ़ रही है। और पूरा देश इस परिवर्तन की बाट जोह रहा है मैं तो बस इतना ही कहूंगी शिक्षा का दिया मनीष सिसोदिया।

आतिशी जी के बारे में पूछे गए एक सवाल के उत्तर में ललिता ने उत्तर दिया सौम्यता, शालीनता, स्वीकार्यता, सहजता उनका गहना है। उनकी विनम्रता सबको आकर्षित करती है मन मोह लेती है, वह समाधान का केंद्र है धैर्य से सुनती, समझती और समाधानित करती हैं  मनीष जी शिक्षा स्वरूप का मनका बन चमक रहे है तो इन मोतियों को पीरो संजोकर रखने वाले सूत्र का कार्य बड़ी ही कुशलता से आतीशी जी कर रही हैं। दिल्ली के अध्यापकों को विश्वस्तरीय कौशल विकास के प्रशिक्षण हो या देश भ्रमण कर बेहतरीन शिक्षा मॉडल का अवलोकन करने का अवसर या फिर हम जिंदा है या जी रहे हैं के भाव का बोध कराने वाले मध्यस्थ दर्शन के अध्ययन का अवसर यह सब शिक्षा की इस जोड़ी के परिश्रम की पराकाष्ठा के कारण ही दिल्ली के शिक्षा जगत को सुलभ हो पाया है मैं कृतज्ञ हूं दिल्ली सरकार के उपकार का।

लाजपत नगर शहीद हेमू कला विद्यालय में आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह में शिक्षा मंत्री ने अध्यापकों को का आह्वान किया कि आज पूरा देश दिल्ली के शिक्षा के बदलाव को देख रहा है, हम विद्यालय से समाज के सहयोग को बाहें फैला रहे हैं, सबका साथ सबका सहयोग ले शिक्षा में महत्वपूर्ण बदलाव की गति को आगे बढ़ाते रहेंगे। शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश राय ने कहा कि हम शिक्षकों के ऋणी है जिन्होंने शिक्षा क्रांति की सोच को साकार किया है हम उनका आभार व्यक्त करते हैं  इस अवसर पर आतिशी ने अध्यापकों को संबोधित करते हुए भरोसा दिलाया की दिल्ली की केजरीवाल सरकार साधन, सहयोग में कोई कमी नहीं करेगी साधना अध्यापकों को करनी होगी। सम्मान की शाम में दिल्ली के दो सौ अध्यापकों को सम्मानित किया गया जिन्होंने प्रथम बैच में बतौर मेंटर टीचर ट्रेनिंग ले शिक्षा बदलाव की इस बयार की शुरुआत की थी।

Leave a Comment