सुनील जाखड़ की बढ़ीं मुश्किलें, पूर्व CM चन्नी पर किए कमेंट पर..

The News Air- पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ की मुश्किलें बढ़नी शुरू हो गई हैं। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को निशाना बनाते हुए जी-23 नेताओं पर की गई उनकी टिप्पणी अब उन पर ही भारी पड़ने लगी है। चन्नी की शिकायत पर जहां कांग्रेस की अनुशासन समिति ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी कर रखा है। वहीं अब इस टिप्पणी पर संज्ञान लेते हुए अनुसूचित जाति आयोग ने पुलिस कमिश्नर जालंधर को जांच के आदेश जारी किए हैं।
जी-23 नेताओं को लेकर एक साक्षात्कार के दौरान जाखड़ ने टिप्पणी की थी कि इन्हें नीचे से उठाकर सिर पर नहीं बिठाना चाहिए। आयोग ने पुलिस कमिश्नर जालंधर को आदेश जारी किए हैं कि वह इस मामले की जांच करें। पुलिस कमिश्नर को समय निर्धारित करते हुए कहा है कि 15 दिन के भीतर इसकी सही जांच करने के बाद सुनील जाखड़ के ख़िलाफ़ एससी-एसटी एक्ट (एट्रोसिटी) में मामला दर्ज़ करें। यदि जालंधर पुलिस ने 15 दिन के भीतर कार्रवाई न की तो पुलिस कमिश्नर को या उनके किसी नुमाइंदे को एससी आयोग के सामने पेश होना पड़ेगा।

शिकायत और धरने-प्रदर्शनों पर लिया संज्ञान

पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ के बयान के बाद पंजाब में हर जगह अनुसूचित जाति के लोग धरने प्रदर्शन कर रहे हैं। जगह-जगह वह प्रशासनिक अधिकारियों को सुनील जाखड़ के ख़िलाफ़ कार्रवाई को लेकर ज्ञापन दे रहे हैं। इसी तरह के बहुत से अनुसूचित जाति के नेताओं ने आयोग को भी सुनील जाखड़ की टिप्पणी को लेकर शिकायतें की हैं।
उन्होंने जाखड़ के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की मांग की है। शिकायतों और धरने-प्रदर्शनों पर संज्ञान लेते हुए आयोग ने अब मामले की जांच और केस दर्ज़ करने के आदेश दिए हैं। एससी नेताओं का कहना है कि कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को टीवी चैनल पर अपशब्द कहे, जिससे उनकी भावनाएं आहत हुई हैं। उन्होंने क़ानूनन अपराध किया है।

यह था मामला

कांग्रेस के पूर्व पंजाब प्रधान सुनील जाखड़ ने एक साक्षात्कार के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर निशाना साधते हुए कहा था कि कुछ नेता ऐसे भी हैं जो ख़ुद कहते हैं कि उनकी झोली छोटी थी, लेकिन हाईकमान ने उससे ज़्यादा दिया। जाखड़ ने जी-23 के नेताओं को निशाना बनाते हुए कहा कि उन्हें नीचे से उठाकर सिर पर नहीं बिठाया जाना चाहिए। इसे लेकर एससी नेता नाराज़ हो गए। हालांकि जाखड़ ने पहले ही स्पष्टीकरण दे दिया था कि उनका ऐसा कहने का कोई भाव नहीं था। उन्होंने पहले ही खेद व्यक्त कर दिया था।

Leave a Comment