कहानी ‘MBA चायवाला’ की, 22 साल का लड़का चाय बेचते-बेचते बना करोड़पति, विदेशों में खुलने जा रही फ्रेंचाइजी


नाम है प्रफुल्ल बिल्लौरे (prafull billore) मगर जाने जाते हैं ‘MBA चायवाला’ के नाम से। 25 साल के इन नौजवान के चाय का धंधा इतना चला कि टर्नओवर करोड़ों का हो गया। 20 साल की उम्र में MBA की तैयारी करने घर से निकले प्रफुल्ल बिल्लोर को भी पता नहीं था कि यही MBA शब्द एक दिन उन्हें दुनियाभर में मशहूर बना देगा। इंदौर (indore) से अहमदाबाद (Ahmedabad) पहुंचे प्रफुल्ल का सपना IIM में एडमिशन पाना और शानदार पैकेज पर जॉब हासिल करना था, लेकिन जब MBA में सफलता नहीं मिला तो प्रफुल्ल ने चाय का ठेला लगाने का सोचा और नाम रखा ‘MBA चायवाला’..जो आज यंगस्टर्स के बीच ब्रांड बन चुका है..जाने प्रफुल्ल बिल्लौरे की सफलता के पीछे की दिलचस्प कहानी..

Madhya pradesh, prafull billore mba chai wala the journey from a roadside tea stall to owning a million dollor company

अहमदाबाद से शुरुआत
धार (DHAR) के एक छोटे से गांव लबरावदा के किसान परिवार के प्रफुल्ल बिल्लौरे IIM अहमदाबाद से MBA करना चाहते थे, लेकिन जब सक्सेस  हाथ नहीं लगी तो दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों की ओर रुख ककिया लेकिन दिल लगा तो अहमदाबाद में। प्रफुल्ल को अहमदाबाद शहर इतना पसंद आया कि वो वहीं बसने की सोचने लगे। अब रहने के लिए पैसे चाहिए और पैसे के लिए कुछ न कुछ तो करना ही पड़ेगा, यही सोचकर प्रफुल्ल ने अहमदाबाद में मैकडॉनल्ड में नौकरी कर ली। यहां प्रफुल्ल को 37 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से पैसे मिलते थे और वह दिन में करीब 12 घंटे काम करते थे।

Madhya pradesh, prafull billore mba chai wala the journey from a roadside tea stall to owning a million dollor company

आइडिया जिसने बदल दी प्रफुल्ल की दुनिया
नौकरी करते हुए प्रफुल्ल को एहसास हुआ कि वह जिंदगी भर मैकडॉनल्ड की नौकरी तो नहीं कर सकते, इसलिए उन्होंने अपना खुद का बिजनेस शुरू करने की सोची। लेकिन बिजनेस शुरू करने के लिए पैसे, प्रफुल्ल के पास नहीं थे। ऐसे में प्रफुल्ल ने ऐसा बिजनेस करने के बारे में सोचा जिसमें पूंजी भी कम लगे और आसानी से भी हो जाए। बस यहीं से चाय का काम शुरू करने का आइडिया उनके दिमाग में आया। काम की शुरुआत के लिए प्रफुल्ल ने अपने पिता से झूठ बोलकर पढ़ाई के नाम पर 10 हजार रुपए मांगे। इन्हीं पैसों से प्रफुल्ल ने चाय का ठेला लगाना शुरू किया।

Madhya pradesh, prafull billore mba chai wala the journey from a roadside tea stall to owning a million dollor company

शुरुआती दिनों में हुई मुश्किल
पहले दिन प्रफुल्ल बिल्लौरे की एक भी चाय नहीं बिकी तो उन्होंने सोचा कि अगर कोई मेरे पास चाय पीने नहीं आ रहा तो क्यों ना मैं खुद उसके पास जाकर अपनी चाय ऑफर करूं। प्रफुल्ल वेल एजुकेटेड हैं, अच्छी इग्लिश बोलते हैं, उनकी यह तरकीब काम आई और सब बोलते कि चाय वाला भी अंग्रेजी बोलता है, और चाय की दुकान चल निकली। दूसरे दिन 6 चाय बेची पर चाय 30 रुपए के हिसाब से 150 रुपए कमाए। प्रफुल्ल सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक जॉब करते थे और शाम 7 बजे से रात 11 बजे तक अपने चाय का स्टॉल लगाते थे। काम अच्छा चलने लगा 600 कभी 4000 कभी 5000 तक सेल होने लगे और उन्होंने अपनी जॉब छोड़ दी और अपना पूरा फोकस अपने चाय पर किया। 

Madhya pradesh, prafull billore mba chai wala the journey from a roadside tea stall to owning a million dollor company

‘MBA चाय वाला’ मतलब  ‘मिस्टर बिल्लौरे अहमदाबाद’
चाय का काम अच्छा चलने लगा नेटवर्क अच्छे बन गए तो प्रफुल्ल ने सोचा क्यों ना अब दुकान का कोई एक अच्छा सा नाम रख लें, जिससे और अच्छी मार्केटिंग हो। लगभग 400 नाम सेलेक्ट करने के बाद एक नाम फाइनल किया, जो था ‘मिस्टर बिल्लोरे अहमदाबाद’ जिसका शॉर्ट नाम ‘MBA चाय वाला’ पड़ा। शुरुआत में लोग उन पर खूब हंसते, मजाक बनाते लेकिन धीरे-धीरे लोगों को प्रफुल्ल का आइडिया पसंद आने लगा।

Madhya pradesh, prafull billore mba chai wala the journey from a roadside tea stall to owning a million dollor company

प्रफुल्ल बिल्लौर का अचीवमेंट 
‘MBA चाय वाला’ धीरे-धीरे फेमस हो गया। अब लोकल इवेंट, म्यूजिकल नाइट, बुक एक्सचेंज प्रोग्राम, वुमन एम्पावरमेंट, सोशल कॉज, ब्लड डोनेशन जैसी हर जगह ‘MBA चाय वाला’ दिखाई देता। प्रफुल्ल ने  वेलेंटाइन के दिन ‘सिंगल के लिए मुफ्त चाय’ दी, जो वायरल हो गई और वहां से उनको और भी ज्यादा पॉपुलेरिटी मिली। अब उन्हें और भी बड़े ऑर्डर मिलने लगे। आज ‘MBA चाय वाला’ नेशनल और इंटरनेशनल इवेंट करते हैं। प्रफुल्ल ने 300 स्क्वायर फीट में अपना कैफे खोला और पूरे भारत में फ्रेंचाइजी दी। एक वक्त जिन MBA संस्थानों में जाकर पढ़ाई करना प्रफुल्ल बिल्लोरे का सपना था। आज वही संस्थान प्रफुल्ल को अपने यहां बतौर मैनेजमेंट गुरू लेक्चर देने के लिए बुलाते हैं। महज 25 साल  की उम्र में उनका नेटवर्थ सालाना 3 से 4 करोड़ का है। आज देश के 22 शहरों में और लंदन में भी ‘MBA चायवाला’ के नाम से उसके आउटलेट हैं। बाकी के देशों में भी फ्रेंचाइजी पर बात चल रही है। 


Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro