इलेक्ट्रिक व्हीकल्स बनाने के लिए Sony और Honda की पार्टनरशिप 

जापान की दो बड़ी कंपनियों ने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स बनाने के लिए पार्टनरशिप कर रही हैं। Sony और Honda ने इसके लिए एक ज्वाइंट वेंचर करने का फैसला किया है। इसका पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल 2025 तक लॉन्च करने की योजना है। इसमें मोबिलिटी डिवेलपमेंट, टेक्नोलॉजी और सेल्स में होंडा की एक्सपर्टाइज और इमेजिंग, टेलीकम्युनिकेशन, नेटवर्क और एंटरटेनमेंट में सोनी के लंबे एक्सपीरिएंस का फायदा होगा।

यह ज्वाइंट वेंचर प्रोडक्ट को डिवेलप और डिजाइन करेगा लेकिन मैन्युफैक्चरिंग के लिए होंडा के प्लांट का इस्तेमाल किया जाएगा। सोनी के पास मोबिलिटी सर्विसेज प्लेटफॉर्म तैयार करने की जिम्मेदारी होगी। दूसरे विश्व युद्ध के बाद 1940 के दशक में जापान के पुनर्निमाण के दौर में सोनी और होंडा की शुरुआत हुई थी। होंडा के फाउंडर सोइचिरो होंडा एक इंजीनियर और उद्योगपति थे। उन्होंने अपने पिता की साइकिल रिपेयर करने की दुकान के साथ शुरुआत की थी और बाद में होंडा को एक ग्लोबल कंपनी बनाया। सोनी को अकियो मोरिता और मसारु इबुका ने शुरू किया था। मोरिता को मार्केट की अच्छी जानकारी थी जबकि इबुका की दिलचस्पी प्रोडक्ट डिवेलपमेंट में थी। मोरिता का मानना था कि जापान को अपनी राय मजबूती से रखनी चाहिए और गर्व के साथ आगे बढ़ना चाहिए।

सोनी ने 1970 के दशक में जब वॉकमैन पोर्टेबल ऑडियो प्लेयर को डिवेलप किया था तो कुछ इंजीनियर्स ने इसके सफल होने को लेकर सवाल किए थे लेकिन मोरिता का मानना था कि लोग चलते हुए म्यूजिक सुनना पसंद करेंगे और प्रोडक्ट की काफी बिक्री होगी। कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स में सोनी की गिनती दुनिया की टॉप कंपनियों में होती है।

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए ज्वाइंट वेंचर की घोषणा करते हुए होंडा के चीफ एग्जिक्यूटिव तोशिहिरो मिब ने कहा, “सोनी और होंडा में बहुत सी ऐतिहासिक और सांस्कृतिक समानताएं हैं लेकिन टेक्नोलॉजी से जुड़ी एक्सपर्टाइज के हमारे एरिया बहुत अलग हैं। मेरा मानना है कि दोनों कंपनियों के बीच इस पार्टनरशिप से मोबिलिटी के लिए कई संभावनाएं बनेंगी।” होंडा की हाइब्रिड कारों की बिक्री बढ़ रही है। अमेरिका में हाइब्रिड कारों की दूसरी सबसे अधिक बिक्री करने वाली होंडा मोटर की हाइब्रिड कारों की सेल्स 67 प्रतिशत बढ़कर 1,07,060 यूनिट्स की रही। इलेक्ट्रिक व्हीकल्स केवल इलेक्ट्रिसिटी पर चलते हैं और इनके लिए चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत होती है, जबकि हाइब्रिड EV को गैसोलिन के साथ ही इलेक्ट्रिसिटी पर भी चलाया जा सकता है।

Leave a Comment