सिद्धू मूसेवाला कत्लकांड, दिल्ली पुलिस पहुँची नेपाल, हरियाणा से 2 बदमाश गिरफ़्तार, गैंगस्टर लॉरेंस को..

The News Air: सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पुलिस ने हरियाणा से 2 युवकों को गिरफ़्तार किया है। इन्हें फतेहाबाद ज़िले से पकड़ा गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक़ पकड़े गए आरोपी पवन बिश्नोई और नसीब ख़ान हैं। दोनों के तार मूसेवाला हत्याकांड से जुड़े हैं। सूत्रों के मुताबिक़ मूसेवाला की हत्या में इस्तेमाल हुई बोलेरो गाड़ी से इनका कनेक्शन है। इस बीच दिल्ली पुलिस की एक स्पेशल टीम हत्यारों की तलाश में नेपाल भी गई है।
कोरोला के साथ इसी बोलेरो में आए शूटर्स ने मूसेवाला की हत्या की थी। इन दोनों के ख़िलाफ़ मोगा में हत्या का केस भी दर्ज़ है। इसके अलावा पुलिस ने गैंगस्टर लॉरेंस को प्रोडक्शन वारंट पर तिहाड़ जेल से लाकर पूछताछ की तैयारी पूरी कर ली है। अब उसके दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के पास 5 दिन का वारंट ख़त्म होने का इंतज़ार किया जा रहा है।

हरियाणा के हांसपुर से बुढ़लाडा में दाखिल हुई बोलेरो

पंजाब पुलिस के मुताबिक़ यह बोलेरो कई बार हरियाणा के फतेहाबाद में देखी गई। दोनों युवकों को भिरड़ाना से दबोचा गया है। यह बोलेरो कई जगह CCTV कैमरे में क़ैद हुई। यह बोलेरो भिरड़ाना से हांसपुर होते हुए बुढलाडा में घुसी थी। इसे मूसेवाला की हत्या के दिन यानी 29 मई से 4 दिन पहले 25 मई को रतिया चुंगी से भी जाते देखा गया था।

कोरोला गाड़ी का हो चुका खुलासा

जिस कोरोला गाड़ी में शूटर आए, उसका पुलिस पता लगा चुकी है। यह कोरोला जेल में बंद गैंगस्टर मनप्रीत मन्ना की है। उसने बठिंडा में गैंगस्टर कुलबीर नरूआणा का मर्डर किया था। उसने ही भागीबांदर में अपने किसी आदमी से यह कोरोला आगे भिजवाई थी। इसके पीछे गैंगस्टर सराज मिंटू का नाम भी सामने आ रहा है कि कोरोला शूटर्स को देने के लिए मिंटू ने ही मन्ना को कहा था। पुलिस इन दोनों का प्रोडक्शन वारंट लेकर पूछताछ कर चुकी है।

लॉरेंस के क़रीबी संपत नेहरा से हो चुकी पूछताछ

गैंगस्टर लॉरेंस के क़रीबी संपत नेहरा से पूछताछ कर चुकी है। संपत नेहरा तिहाड़ जेल में बंद था। जिसे प्रोडक्शन वारंट पर लाकर लंबी पूछताछ की गई। हालांकि, अब उसे वापस तिहाड़ भेजा जा चुका है।

लॉरेंस को लाएगी पुलिस, हाईकोर्ट से खारिज हो चुकी याचिका

पंजाब पुलिस अब गैंगस्टर लॉरेंस को प्रोडक्शन वारंट पर लाएगी। लॉरेंस ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। जिसमें उसने पंजाब पुलिस को प्रोडक्शन वारंट न देने की मांग की थी। हालांकि पंजाब सरकार ने कहा कि उसे अभी FIR में नामज़द नहीं किया गया है और न ही प्रोडक्शन वारंट मांगा है। इस दलील के बाद हाईकोर्ट ने लॉरेंस की याचिका खारिज कर दी। हालांकि पुलिस ने मूसेवाला के क़त्ल में जो FIR दर्ज़ की है, उसमें पिता के बयान में लॉरेंस का नाम है। उस आधार पर पुलिस उसका प्रोडक्शन वारंट लेगी।

सचिन बिश्नोई ने क़बूला, मैंने मारी गोली

लॉरेंस गैंग के गुर्गे सचिन बिश्नोई ने कल फ़ोन कर ज़िम्मेदारी ली कि उसने ख़ुद मूसेवाला को गोली मारी। उसने कहा कि मोहाली में विक्की मिड्‌डूखेड़ा के क़त्ल में सिद्धू मूसेवाला का रोल था। उसने हत्यारों को जगह और फाइनेंशियली सपोर्ट किया। इसके अलावा कनाडा बैठे गैंगस्टर गोल्डी बरार के चचेरे भाई गुरलाल बराड़ की हत्या में भी मूसेवाला इनवॉल्व था। उसका नाम बंबीहा गैंग के शूटर्स ने भी लिया था। इसके बावज़ूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

Leave a Comment