SGPC का 29.70 करोड़ घाटे का बजट पेश:सस्ती दवाओं के 4 मेडिकल स्टोर..

The News Air– पंजाब के अमृतसर में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) की ओर से वर्ष 2022-23 के लिए तक़रीबन 9 अरब 88 करोड़ रुपए का बजट पास किया गया। बजट में सस्ती दवाओं के 4 मेडिकल स्टोर खोलने का भी फ़ैसला लिया गया। एसजीपीसी ने इस बार वार्षिक आय से 29 करोड़ 70 लाख 18 हज़ार 795 रुपए अधिक के घाटे के साथ बजट पेश किया है। साथ ही प्रत्येक वर्ष गुरु अंगद देव जी गुरई दिवस को गुरुमुखी दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया।

9.88 अरब का अनुमानित बजट

शिरोमणि समिति के महासचिव करनैल सिंह पंजोली ने शिरोमणि समिति के बजट सत्र के दौरान वर्ष 2022-23 के लिए लगभग 9 अरब 88 करोड़ रुपए का अनुमानित बजट पेश किया है। इस बार वार्षिक आय से 29 करोड़ 70 लाख 18 हज़ार 795 रुपए अधिक का घाटा बताया गया है। इस दौरान शिरोमणि समिति के अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी ने 12 अलग-अलग महत्वपूर्ण बिंदुओं को पढ़ा, जिन्हें सदन ने मंजूरी दी।

श्री गुरु ग्रंथ साहिब से छेड़छाड़ पर रोष

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के बजट सत्र के दौरान सिख मामलों पर कई प्रस्ताव पारित किए गए। इनमें श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की पवित्र गुरबानी से छेड़छाड़ की निंदा, गुरुमुखी लिपि दिवस का उत्सव, श्री अमृतसर से सीधी उड़ाने शुरू करना, सचखंड श्री हरमंदिर साहिब के लिए सड़कें खोलने जैसे कई सिख मुद्दे शामिल हैं। श्री गुरु ग्रंथ साहिब से छेड़छाड़ के मुद्दे पर कड़ा विरोध किया। विभिन्न मोबाइल ऐप और वेबसाइट पर गुरु ग्रंथ साहिब और विभिन्न पवित्र भजनों को स्वैच्छिक रूप से अपलोड करने पर भी आपत्ति जताई और अकाल तख़्त को निर्देश जारी करने का अनुरोध किया। प्रत्येक वर्ष गुरु अंगद देव जी गुरई दिवस को गुरुमुखी दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया।

अमृतसर से हवाई उड़ाने शुरू हों

आम सत्र के दौरान पारित एक प्रस्ताव में श्री गुरु राम दास जी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, अमृतसर से विभिन्न देशों के लिए सीधी उड़ानों की ज़ोरदार मांग की गई। कहा गया कि अलग-अलग देशों में क़रीब 50 लाख सिख रह रहे हैं, जिन्हें पंजाब से सीधी फ्लाइट नहीं मिलने से दिक्क़तों का सामना करना पड़ रहा है। इसी तरह पंजाब सरकार से भी सचखंड श्री हरमंदिर साहिब के विभिन्न रास्ते खोलने और इसे सिख विरासत का रूप देने का प्रस्ताव मांगा गया था। कहा गया कि इससे पहले नवंबर 2018 के आम सत्र के दौरान भी प्रस्ताव पारित कर पंजाब सरकार को भेजा गया था लेकिन सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की।

पाक जाने के लिए अनुमति का प्रस्ताव

एक अन्य प्रस्ताव में भारत सरकार से गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब पाकिस्तान के खुले गलियारों से गुज़रने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए पासपोर्ट की आवश्यकता को समाप्त करने का आह्वान किया गया और साथ ही पंजाब सरकार से डेरा बाबा नानक के ऐतिहासिक शहर की यात्रा करने की अपील की। भारत और पाकिस्तान की सरकारों से गुरुद्वारा श्री पंजा साहिब की शहादत की 100वीं शताब्दी मनाने और तीर्थ यात्रियों को इस अवसर पर पाकिस्तान जाने की अनुमति देने का प्रस्ताव रखा गया है। शताब्दी 30 अक्टूबर, 2022 को मनाई जानी है, जो न केवल भारत में बल्कि पाकिस्तान में भी मनाई जाएगी।

SGPC के ख़िलाफ़ झूठ फैलाने की निंदा

आम सत्र के दौरान पारित एक प्रस्ताव में शिरोमणि कमेटी के ख़िलाफ़ झूठ फैलाने वालों की कड़ी निंदा की गई। प्रस्ताव में कहा गया कि कुछ लोग जानबूझकर शिरोमणि समिति की छवि ख़राब कर रहे हैं और शिरोमणि समिति के ट्रस्ट के बारे में भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। यह स्पष्ट किया गया कि शिरोमणि समिति के ट्रस्ट शिरोमणि समिति की संपत्ति हैं और प्रशासनिक जिम्मेदारीयां भी शिरोमणि समिति के सचिवों की होती हैं।

जेलों से रिहाई की मांग

बजट सभा में लगभग तीन दशकों से भारत की विभिन्न जेलों में बंद संघर्षी सिंह को रिहा करने के लिए एक प्रस्ताव भी पारित किया गया है। जिनमें प्रो. दविंदरपाल सिंह भुल्लर, भाई जगतार सिंह हवारा, भाई बलवंत सिंह राजोआना आदि शामिल हैं। एक अन्य प्रस्ताव में पंजाब और विशेष रूप से सिखों पर भारत सरकार की कार्रवाई की निंदा की गई।

केंद्र सरकार की आलोचना

शिरोमणि समिति के अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी ने चंडीगढ़ के कर्मचारियों पर केंद्र सरकार द्वारा संघ सेवा की शर्तें थोंपने को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब के बाहर के अधिकारियों को चंडीगढ़ पर थौंपने का निर्णय लिया गया था जिसे तुरंत वापस लिया जाना चाहिए। इसी तरह भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड से पंजाब के अनिवार्य प्रतिनिधित्व को हटाने को भी पंजाब का भेदभाव बताया गया।

SGPC देगी ये सुविधाएं

गर्ल्स कॉलेज तलवंडी साहिब की तर्ज पर ही अब फतेहगढ़ साहिब स्थित वर्ल्ड यूनिवर्सिटी में 200 अमृतधारी गुरसिख लड़कियों को भी मुफ़्त शिक्षा, भोजन और रिहाइश उपलब्ध कराया जाएगा। इसी तरह श्री अकाल तख़्त साहिब, तख़्त श्री केसगढ़ साहिब श्री आनंदपुर साहिब, तख़्त श्री दमदमा साहिब तलवंडी साबो और गुरुद्वारा बीर बाबा बुद्ध साहिब थट्टा तरनतारन में चार मेडिकल स्टोर खोले जाएंगे, जहां सस्ती दवाइयां दी जाएंगी।

Leave a Comment