लाल क़िला एंटी ड्रोन सिस्टम से होगा लैस, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट मोड पर


नई दिल्ली, 10 जुलाई (The News Air)
देश की बाहरी व आंतरिक सुरक्षा के लिए ख़ुफ़िया एजेंसिया हर समय अपनी पैनी नज़र बनाए हुए हैं। ऐसे में स्वतंत्रता दिवस से पहले सुरक्षा को लेकर बरती जा रही चौकसी के बीच लाल क़िला को एंटी ड्रोन सिस्टम से लैस करने की तैयारी की जा रही है। दरअसल जम्मू हमले के बाद से ही ख़ुफ़िया इकाइयां हवाई मार्ग से ख़तरे का इनपुट मुहैया करवा रही हैं। ऐसे में स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले सुरक्षा से जुड़े सभी एहतियात इस्तेमाल किए जा रहे हैं।
लाल क़िला एंटी ड्रोन सिस्टम से होगा लैस- आकाश मार्ग की सुरक्षा के तहत जहां एक तरफ़ तो हेलीकाप्टर पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस कमांडो टीम आकाश मार्ग से सुरक्षा की कमान संभालेगी, वहीं आसमान को सुरक्षित करने के लिए ‘एंटी-ड्रोन डिटेक्शन सिस्टम’ की लालक़िला पर तैनाती की जाएगी। इसके अलावा दिल्ली पुलिस हवा में उड़ने वाली चीज़ों पर रोक लगाने के आदेश के लिए सीआरपीसी की धारा 144 के तहत यह निषेधाज्ञा भी जल्द ही जारी कर देगी।
 16 कमांडो वाहन पराक्रम तैनात- लुटियन ज़ोन इलाक़े से लेकर लाल क़िले तक पहुंचने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित अन्य वीआईपी रूट पर सुरक्षा के बेहद कड़े बंदोबस्त किए जा रहे हैं। रूट के अलावा लाल क़िले और आसपास के दायरे में करीब पुलिस ने अत्याधुनिक हथियारों से लैस 16 कमांडो वाहन ‘पराक्रम’ को सुरक्षा व्यवस्था को मज़बूत करने के लिए लगाया जा रहा है। सुरक्षा तैयारियों के मद्देनज़र इन कमांडो वाहनों के साथ सुरक्षाकर्मी अपनी-अपनी पोजिशन ले रहे हैं। इसमें से कुछ आसपास के इलाक़े में गश्त भी करेंगी।
 लाल क़िले व आसपास रूफ टॉप दस्ते की तैनाती- इसके अलावा लाल क़िले और आसपास के इलाक़ों में स्थित उंची इमारतों पर दूरबीन और अत्याधुनिक हथियारों से लैस रूफ टॉप दस्ते की तैनाती की जा रही है। जगह-जगह मचान बनाकर भी कमांडो दस्ते की तैनाती की शुरू कर दी गई है। लाल क़िले की सुरक्षा में तैनात दिल्ली पुलिस सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियों के आला अधिकारियों के बीच आपस में पल-पल की सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए वैकल्पिक तौर पर 2 कंट्रोल रूम भी बनाए जा रहे हैं। लाल क़िले व आसपास के पूरे इलाक़े को सीसीटीवी से लैस कर दिया जाएगा, ताकि किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या वाहन पर पैनी नज़र रखी जा सके। डॉग स्क्वॉड व बम स्क्वॉड की टीम हर कुछ घंटे पर इलाक़े की जांच-पड़ताल कर रहे हैं।
सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट मोड पर- सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट मोड पर हैं। एक तरफ़ जहां सुरक्षा को लेकर तैयारियां ज़ोर-शोर से चल रही हैं, वहीं दूसरी तरफ़ लगातार इंटेलिजेंस यूनिट के साथ समन्वय बनाकर संदिग्ध लोगों व उनकी संदिग्ध हरकतों पर नज़र रखी जा रही है। इसमें विशेष रूप से ड्रोन हमले की आशंका के मद्देनज़र पूरी सावधानी बरती जा रही है और हवा में उड़ने वाली चीज़ों पर सुरक्षा कर्मियों की पैनी नज़र है।
पैरा-ग्लाइडर, हैंग ग्लाइडर, पैरा-मोटर्स, माइक्रोलाइट एयरक्राफ्ट, यूएवी, यूएएस रिमोट से चलने वाले विमान, हॉट एयर बैलून, छोटे आकार के बैट्री से चलने वाले एयरक्राफ्ट, क्वाडॉप्टर्स और पैरा जंपिंग उड़ान पर पैनी नज़र रखी जा रही है।


Leave a comment

Subscribe To Our Newsletter

Subscribe To Our Newsletter

Join our mailing list to receive the latest news and updates from our team.

You have Successfully Subscribed!