Samsung हुई सिक्‍योरिटी ब्रीच का शिकार, हैकर्स का दावा- 190GB डेटा चुराया

साइबर हमलावर दुनियाभर की कंपनियों और संस्‍थाओं के लिए चुनौती बनते जा रहे हैं। अब टेक दिग्‍गज ‘सैमसंग (Samsung) इलेक्ट्रॉनिक्स’ को सिक्‍योरिटी ब्रीच का सामना करना पड़ा है। हैकर्स ने दावा किया है कि उन्होंने 190GB डेटा लीक किया है। इसमें सोर्स कोड और बायोमेट्रिक अनलॉकिंग एल्गोरिदम शामिल हैं। Apple Insider की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि साउथ कोरियाई कंपनी सैमसंग को इस महीने की शुरुआत में सिक्‍योरिटी ब्रीच का सामना करना पड़ा। हैकिंग के पीछे ‘लैप्सस$’ नाम के ग्रुप का हाथ था।

ग्रुप ने दावा किया कि उसने सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स से बड़ी मात्रा में डेटा जब्त किया है। अगर यह खबर सच है, तो इसका मतलब है कि सैमसंग की सिक्‍योरिटी में समस्‍या है। डेटा लीक की जानकारी ग्रुप के जरिए ही पहली बार शुक्रवार को दी गई। इसमें सैमसंग सॉफ्टवेयर में C/C++ डायरेक्टिव्‍स की पिक्‍चर शेयर की गई थी। ऐसा मालूम पड़ता है कि सैमसंग को इस सिक्‍योरिटी ब्रीच के बारे में पता ही नहीं चला।

सिक्‍योरिटी ब्रीच को अंजाम देने वाले ग्रुप का कहना है कि जो डेटा उसने हासिल किया है, उसमें सैमसंग के गोपनीय सोर्स कोड भी हैं। जानकारी के मुताबिक, इस कोड में सैमसंग के ट्रस्टजोन का एप्लेट सोर्स भी शामिल है, जो हार्डवेयर क्रिप्टोग्राफी और एक्सेस कंट्रोल जैसे संवेदनशील कामों को करता है। इसके अलावा, बायोमेट्रिक अनलॉक ऑपरेशन एल्गोरिदम, हालिया डिवाइसेज के लिए बूटलोडर सोर्स, एक्टिवेशन सर्वर सोर्स कोड और सैमसंग अकाउंट्स को अथॉन्टिकेट और ऑथराइज करने के लिए इस्‍तेमाल किए जाने वाले सोर्स कोड से संबंधित संवेदनशील डेटा में भी सेंध लगाई गई है।

माना जा रहा है कि क्वालकॉम से जुड़े कुछ गोपनीय सोर्स कोड भी लीक हो गए हैं। हैकर ग्रुप ने लीक डेटा को टोरेंट के जरिए शेयर किया है। फ‍िलहाल यह पता नहीं है कि हैकर्स ने कितना डेटा हासिल किया है। यह भी स्पष्ट नहीं है कि क्या हैकर्स ने कंपनी से इस इन्‍फर्मेशन को वापस करने के लिए फ‍िरौती की डिमांड की थी। सैमसंग के अधिकारियों ने कहा है कि वो डेटा ब्रीच के मामले में स्थिति का आकलन कर रहे हैं। अब यह देखना होगा कि कंपनी आने वाले दिनों में डेटा सिक्‍योरिटी को लेकर किस तरह के कदम उठाती है।

Leave a Comment