Reward on Vladimir Putin : व्लादिमीर पुतिन के सिर पर 1 मिलियन डॉलर का इनाम, रूसी बिजनेसमैन बोला- जिंदा या मुर्दा दोनों चलेगा

मॉस्को: यूक्रेन पर हमले को लेकर रूस के ही लोग राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के खिलाफ हो गए हैं। रूस की राजधानी मॉस्को (Protest in Russia) समेत कई बड़े शहरों में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हुए हैं। अब एक रूस के बिजनेसमैन एलेक्स कोन्याखिन ने व्लादिमीर पुतिन के सिर पर 1 मिलियन डॉलर के इनाम का ऐलान (Bounty on Putin’s head) किया है। भारतीय रुपये में इनाम की राशि 7.5 करोड़ रुपये के आसपास होगी। कोन्याखिन ने अपने फेसबुक औल लिंक्डइन पर पुतिन के तस्वीर वाली एक पोस्टर को शेयर किया है, जिस पर ‘Wanted: Dead or Alive. For Mass Murder’ लिखा हुआ है। एलेक्स ने पोस्ट में कहा कि वह पुतिन की अंतरराष्ट्रीय कानूनों के तहत युद्ध अपराधी के रूप में गिरफ्तारी के लिए 1 मिलियन डॉलर देने को तैयार हैं।

फेसबुक ने हटाई कोन्याखिन की पोस्ट

कोन्याखिन के इस पोस्ट को फेसबुक ने नियमों का उल्लंघन मानते हुए हटा दिया है। जिसके बाद रूसी बिजनेमैन ने सफाई देते हुए कहा कि मैं लोगों से पुतिन को मारने के लिए नहीं कह रहा था। मेरा मकसद यह है कि उन्हें न्याय के कठघरे में लाया जाए। कोन्याखिन ने यह पोस्ट यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के करीब एक हफ्ते बाद किया है। दावा किया जा रहा है कि इस युद्ध में यूक्रेन के 2000 से अधिक नागरिक मारे जा चुके हैं। वहीं, रूसी रक्षा मंत्रालय ने एक दिन पहले बताया था कि यूक्रेन में स्पेशल ऑपरेशन के दौरान उसके 498 सैनिक शहीद हो चुके हैं। इसके उलट यूक्रेन ने दावा किया है कि उसने रूसी सेना के करीब 9000 सैनिकों को मार गिराया है।मैं उस अधिकारी (अधिकारियों) को 1,000,000 डॉलर का भुगतान करने का वादा करता हूं, जो अपने संवैधानिक कर्तव्य का पालन करते हुए, पुतिन को रूसी और अंतरराष्ट्रीय कानूनों के तहत युद्ध अपराधी के रूप में गिरफ्तार करते हैं।

एलेक्स कोन्याखिन

कोन्याखिन पर है 8 मिलियन डॉलर के गबन का आरोप

55 साल के एलेक्स कोन्याखिन एक अमीर बिजनेसमैन हैं। उन्होंने 1992 में रूस के तत्कालीन राष्ट्रपति बोरिस येल्तसिन के नेतृत्व में अमेरिका में एक रूसी प्रतिनिधिमंडल में अपनी सेवाएं दी थी। बाद में उन्होंने रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन की तरफ से रूसी एक्सचेंज बैंक में बड़े ओहदे पर काम किया। लेकिन, रूसी एक्सचेंज बैंक से 8 मिलियन डॉलर के गबन का आरोप लगाने के बाद उन्होंने त्यागपत्र दे दिया और 2007 में भागकर अमेरिका में शरण ले ली।

बोला- पुतिन ने अपने विरोधियों को मरवाया

उन्होंने दावा किया है कि पुतिन रूसी राष्ट्रपति नहीं हैं क्योंकि वह रूस में अपार्टमेंट इमारतों को उड़ाने के एक विशेष अभियान के परिणामस्वरूप सत्ता में आए। इसके बाद उन्होंने स्वतंत्र चुनावों को समाप्त करके और अपने विरोधियों की हत्या करके संविधान का उल्लंघन किया। । एक जातीय रूसी और एक रूसी नागरिक के रूप में, मैं इसे रूस के नाजीवाद से मुक्ति के लिए अपना नैतिक कर्तव्य मानता हूं। उन्होंने यूक्रेन के लिए सहायता जारी रखने का ऐलान भी किया है।

Putin Wanted Dead or Alive

पुतिन के सिर पर रूसी बिजनेसमैन ने किया इनाम का ऐलान

Leave a Comment