केजरीवाल-भगवंत पर कांग्रेस का हल्ला बोल, रिमोट से पंजाब सरकार चलाने पर राजा वड़िंग, सिद्धू और खैहरा ने..

The News Air: पंजाब सरकार एक बार फिर दिल्ली से रिमोट कंट्रोल के जरिए चलाए जाने को लेकर मुख्यमंत्री भगवंत मान विपक्ष खासकर कांग्रेस के निशाने पर है। ताजा मामला AAP सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल द्वारा फ्री बिजली के मामले में पंजाब के अफसरों की दिल्ली में बैठक बुलाने से जुड़ा है। कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नवजोत सिद्धू और विधायक सुखपाल खैहरा ने पंजाब में AAP नेतृत्व पर सवाल उठाया है।

सोमवार को हुई बैठक में पंजाब के मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी, ऊर्जा सचिव दिलीप कुमार और पीएसपीसीएल चेयरमैन बलदेव सिंह सरन के साथ केजरीवाल ने प्रदेश में निशुल्क बिजली देने पर चर्चा की। बैठक की अध्यक्षता दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की। उनके साथ दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन, राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा जरूर मौजूद रहे। हैरानी बात है कि बैठक में न तो सूबे के मुख्यमंत्री भगवंत मान मौजूद रहे और न ही ऊर्जा मंत्री हरभजन सिंह। वहीं पंजाब में मुफ्त बिजली देने के फैसले पर बुलाई बैठक में न ही सूबे का कोई और बड़ा नेता इसमें शामिल रहा।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजा वड़िंग का ट्वीट।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजा वड़िंग का ट्वीट।

वड़िंग बोले- सिर तो झुका दिया था अब माथा भी टेक दिया क्या…

दिल्ली में केजरीवाल से हुई पंजाब के अफसरों की बैठक पर कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है। पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने सवाल उठाते हुए कई ट्वीट किए। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, बिजली के मुद्दे को लेकर दिल्ली में पंजाब के अधिकारियों की अधिकारिक बैठक हुई। इसमें न तो मुख्यमंत्री भगवंत मान मौजूद थे और न ही सूबे के ऊर्जा मंत्री हरभजन सिंह।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजा वड़िंग का ट्वीट।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजा वड़िंग का ट्वीट।

वड़िंग ने एक और ट्वीट में लिखा कि, क्या पंजाब की सरकार कठपुतली है, यह दिल्ली से चल रही है? पंजाब के अधिकारियों के साथ किस अधिकार के साथ दिल्ली में अरविंद केजरीवाल, राघव चड्ढा और सत्येंद्र जैन ने मीटिंग की। उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री से कहा कि भगवंत मान लोगों को इसका जवाब दें। राजा वड़िंग ने मान पर टिप्पणी करते हुए लिखा कि, ‘सर तो झुका दिया ही था अब माथा भी टेक दिया है क्या?’

पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू का ट्वीट।

पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू का ट्वीट।

सिद्धू ने शायराना अंदाज में कसा तंज

केजरीवाल के मुख्यमंत्री भगवंत मान की गैरमौजूदगी में दिल्ली में पंजाब के अफसरों की मीिटंग लेने पर पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने अपने शायराना अंदाज में तंज कसा। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि, चलने दो आंधियां हकीकत की, न जाने कौन से झोंके से बहरूपियों के मुखौटे उड़ जाएं। सिद्धू ने इसे संघीय ढांचे का स्पष्ट उल्लंघन बताते हुए पंजाब का अपमान बताया। साथ ही उन्होंने केजरीवाल और भगवंत मान को स्पष्टीकरण देने के लिए भी कहा।

raja3 1649743196

खैहरा बोले- मान अपनी स्थिति स्पष्ट करें

कांग्रेस विधायक सुखपाल सिंह खैहरा ने भी अपनी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष के ट्वीट को टैग कर कहा कि भगवंत मान इसका जवाब दें। खैहरा ने कहा कि पंजाब के मामलों में बाहरी लोगों की दखलांदाजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। भगवंत मान से कहा कि वह अपनी स्थिति स्पष्ट करें। खैहरा ने कहा कि मुख्यमंत्री उन्हें (सीएम) और उनके मंत्री को दरकिनार करने वाले अधिकारियों को भी फटकार लगाएं।

चुनाव जीतने के बाद भगवंत मान ने चुनाव जीतने के बाद भगवंत मान जब अरविंद केजरीवाल से मिलने दिल्ली पहुंचे तो भावुक होकर उन्होंने AAP सुप्रीमो के पैर छू लिए थे। अब विपक्षी इसी तस्वीर के साथ मान पर निशाना साध रहे हैं कि वह पूरी तरह से दिल्ली के सामने नतमस्तक हो गए हैं। पंजाब के सारे फैसले दिल्ली से ही लिए जा रहे हैं।

चुनाव जीतने के बाद भगवंत मान ने चुनाव जीतने के बाद भगवंत मान जब अरविंद केजरीवाल से मिलने दिल्ली पहुंचे तो भावुक होकर उन्होंने AAP सुप्रीमो के पैर छू लिए थे। अब विपक्षी इसी तस्वीर के साथ मान पर निशाना साध रहे हैं कि वह पूरी तरह से दिल्ली के सामने नतमस्तक हो गए हैं। पंजाब के सारे फैसले दिल्ली से ही लिए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि पंजाब में चुनाव से पहले ही आम आदमी पार्टी पर आरोप लगते रहे हैं कि प्रदेश की सरकार को दिल्ली से रिमोट कंट्रोल से चलाएगी। अब दिल्ली में पंजाब के अफसरों की मीटिंग के बाद AAP विपक्ष के निशाने पर आ गई है। विपक्ष दावा कर रहा है कि अब यह आरोप प्रमाणित भी होने लगे हैं कि भले ही भगवंत मान को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाया गया है लेकिन फैसले सारे दिल्ली से ही लिए जा रहे हैं।

Leave a Comment