अलगाववादी ताकतों को कभी स्वीकार नहीं करेगा पंजाब

The News Air- नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर सत्ता हासिल करने के लिए अलगाववादी ताकतों की मिलीभगत का आरोप लगाते हुए युवा कांग्रेस ने कहा कि पंजाब अलगाववादी ताकतों को कभी स्वीकार नहीं करेगा। युवा कांग्रेस के सदस्यों ने मार्च निकालने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने रायसीना रोड स्थित उनके कार्यालय के बाहर उन्हें रोक दिया। भारतीय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने कहा, केजरीवाल अलगाववादियों के साथ मिलकर पंजाब को भारत से अलग करके प्रधानमंत्री बनना चाहते थे।

उन्होंने पूछा कि क्या केजरीवाल खुद पंजाब के मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं? क्या अरविंद केजरीवाल ने सत्ता पाने के लिए अलगाववाद और खालिस्तान से जुड़े लोगों का पक्ष लिया? क्या अरविंद केजरीवाल का ऐसे अलगाववादी संगठनों और समूहों से कोई संबंध है? श्रीनिवास ने कहा, आप के संस्थापक कुमार विश्वास यही कह रहे हैं और मेरा विश्वास कीजिए, हर पंजाबी, हर देशवासी आप के नापाक मंसूबों से वाकिफ हैं। पंजाब की जनता इसके लिए कभी तैयार नहीं होगी। बता दें कि 117 सदस्यीय पंजाब विधानसभा में 20 फरवरी को मतदान होना है।

(आईएएनएस)

Leave a Comment