गैंगस्टर गैवी के पांच साथी गिरफ्तार; 1.25 किलो ग्राम हेरोइन, 3 पिस्तौल और 3 वाहन बरामद


गैंगस्टर गैवी ने खुलासा किया कि वह जाली पासपोर्ट हासिल करने में कामयाब हो गया था और पुर्तगाल में निवास की योजना बना रहा था – डीजीपी पंजाब

पाकिस्तान आधारित तस्कर भारत में हेरोइन और हथियारों की तस्करी के लिए के लिए गैंग्स्टरों का प्रयोग कर रहे हैं

चंडीगढ़, 8 मईः

गैंगस्टर-कम-नशा तस्कर गैवी के द्वारा किये खुलासे पर कार्यवाही करते हुये पंजाब पुलिस ने आज उसके पाँच साथियों की गिरफ्तारी करके उसके सभी मड्यूल का पर्दाफाश करने में सफलता हासिल की है। वाछिंत गैंगस्टर जैपाल के करीबी सहयोगी गैवी सिंह उर्फ विजय उर्फ ज्ञानी को 26 अप्रैल, 2021 को झारखंड के सराए किला खरसावा जिले से पंजाब पुलिस के संगठित अपराध कंट्रोल यूनिट (ओ.सी.सी.यू.) और एस.ए.एस. नगर पुलिस के द्वारा एक सांझे अभ्यान के दौरान गिरफ्तार किया गया था।

गिरफ्तार किये व्यक्तियों की पहचान करनबीर सिंह निवासी गाँव अकबरपुरा, हरमनजीत सिंह वासी ग्राम जोहला, गुरजसप्रीत सिंह वासी गाँव बठल भाई के और रवीन्द्र इकबाल सिंह निवासी हंसलावाला (यह सारे गाँव जिला तरन तारन से सम्बन्धित हैं) और सैमूअल उर्फ सेम निवासी फिरोजपुर के तौर पर की गई है। सभी मुलजिमों के खिलाफ पंजाब के अलग-अलग जिलों में कई अपराधिक केस दर्ज हैं।

डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस (डीजीपी), पंजाब दिनकर गुप्ता ने बताया कि पुलिस ने खरड़ के अर्बन होमज -2 में स्थित गैवी के किराया के फ्लैट से 1.25 किलो हेरोइन बरामद की है। इसके इलावा उसके अलग-अलग ठिकानों से 3 पिस्तौलों जिनमें से एक .30 कैलिबर चीनी पिस्तौल और दो .32 कैलिबर पिस्तौल और 23 जिंदा कारतूस भी बरामद किये गए हैं। उन्होंने बताया कि टोयोटा फाच्र्यूनर, महिंदªा स्कार्पियो और हुंडई वर्ना समेत तीन वाहन भी बरामद किये गए हैं जोकि नशों की तस्करी के लिए इस्तेमाल किये जाते थे।

उन्होंने बताया सैमूअल, जोकि जमशेदपुर में गैवी के साथ रह रहा था, गैवी की गिरफ्तारी से पहले दिल्ली फरार होने में सफल हो गया था। उन्होंने आगे बताया कि सैमूअल पाकिस्तान से लाई हेरोइन के वितरण का काम संभाल रहा था।

डीजीपी ने कहा कि चल रही जांच के दौरान गैवी ने खुलासा किया कि उसने पिछले ढाई सालों के दौरान पाकिस्तान से हथियारों समेत 500 किलो से अधिक हेरोइन की तस्करी की है। इन हथियारों और हेरोइन की सप्लाई पंजाब, दिल्ली और जम्मू कशमीर के राज्यों में की जाती थी।

गैवी ने बताया कि भारत -पाक सरहद पर एक समगलिंग बुनियादी ढांचा मौजूद है जिसके द्वारा बहुत से पाकिस्तानी तस्कर भारत में हथियारों और नशे की तस्करी करते हैं। गैवी के द्वारा हवाला रूट या फिर नयी दिल्ली स्थित आयात/निर्यात कंपनियों के द्वारा भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में स्थित व्यक्तियों और संस्थाओं के साथ बड़ी संख्या में वित्तीय लेन-देन भी किया जाता था जिसकी गहराई से जांच की जा रही है।

डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा, ‘गैवी ने यह भी कबूला है कि उसने एक ट्रैवल एजेंट से फर्जी विवरणों के साथ जाली भारतीय पासपोर्ट हासिल किया था और वह पुर्तगाल में निवास की योजना बना रहा था।’

डीजीपी ने कहा कि गैवी के बैंक खातों और जायदादों की पहचान कर ली गई है और यह जानकारी अगली कार्यवाही के लिए सम्बन्धित एजेंसियों के साथ सांझी की जा चुकी है। गैंगस्टर गैवी के अन्य साथियों की भी पहचान की गई है और पंजाब पुलिस ने इस मामले में सभी मुलजिम व्यक्तियों को पकड़ने के लिए कार्यवाही शुरू कर दी है।


Leave a comment

Subscribe To Our Newsletter

Subscribe To Our Newsletter

Join our mailing list to receive the latest news and updates from our team.

You have Successfully Subscribed!