Punjab के पास COVID-19 टीके के सिर्फ 1.9 लाख डोज़ ही बची, कल तक 1.5 लाख डोज़ मिलने की उम्मीद

पंजाब ब्यूरो

चंडीगढ़, 26 अप्रैल

COVID-19 के मामले तेज़ी से बढऩे के कारण स्थिति गंभीर होने के मद्देनजऱ Punjab Govt. हालातों पर काबू पाने के लिए हर संभव यत्न कर रही है, परन्तु भारत सरकार से टीके की सप्लाई कम होने के कारण राज्य के पास टीके के सिफऱ् 1.9 लाख डोज़ बचे हैं। इस उपलब्ध स्टॉक में 1 लाख से अधिक डोज़ आज इस्तेमाल किए जाने की उम्मीद है।

गुरू नानक देव डायलिसिस यूनिट का उद्घाटन करते हुए स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि 25 अप्रैल को तकरीबन 1.5 लाख लाभार्थियों को टीका लगाया गया है और मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पहले ही कोरोना के बढ़ रहे मामलों के कारण पंजाब की चिंताजनक स्थिति का मुद्दा उठाया है और भारत सरकार से कोविड-19 के टीके और ऑक्सीजन की नियमित सप्लाई की माँग की है।

कोविड टीकाकरण मुहिम के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों और तंदुरुस्त पंजाब और स्वास्थ्य केन्द्रों में टीकाकरण का प्रबंध कर रही है और इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष कैंप लगाए जा रहे हैं, जिससे लोगों को उनके द्वार पर ही सुविधा दी जा सके। उन्होंने कहा कि यहाँ हमारे पास आसानी से 3 लाख लाभार्थियों का टीकाकरण करने का सामथ्र्य है।

उन्होंने बताया कि पंजाब में अब तक 30,05,083 से अधिक लोगों को टीका लगाया जा चुका है, जिसके अंतर्गत कुल 26,82,393 व्यक्तियों को टीके की पहली डोज़ और 3,22,690 को दूसरी डोज़ दी गई है।

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा पहले ही टीकों की सप्लाई को नियमित करने के लिए केंद्र सरकार से अपील की जा चुकी है, क्योंकि पंजाब सरकार द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त स्टाफ और अच्छा बुनियादी ढांचा मुहैया करवाया गया है, जिससे रोज़ाना 3 लाख लोगों को टीका लगाया जा सकता है और हर हफ़्ते 15 लाख डोज़ की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने 22 अप्रैल को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को एक पत्र लिखकर टीके के 10 लाख डोज़ की माँग की थी।

उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग को भारत सरकार द्वारा इस बारे में सूचना पत्र मिला, जिसमें कल तक हमारी माँग के लिए कोविशील्ड टीके की सिफऱ् 1.5 लाख डोज़ भेजने संबंधी बताया गया।

1 मई से 18 साल से अधिक उम्र वर्ग के टीकाकरण की तैयारियों सम्बन्धी उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा विभाग को कोविशील्ड टीके की 30 लाख डोज़ मँगवाने के लिए कहा गया है।

ऑक्सीजन की कमी सम्बन्धी पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार के प्लांट पूरे सामथ्र्य के साथ कार्यशील हैं, जबकि केंद्र सरकार द्वारा तरल ऑक्सीजन सम्बन्धी पंजाब के कोटे को बढ़ाया नहीं गया है।

इससे पहले सिद्धू ने सिविल अस्पताल भुलत्थ में बाबा जोरावर सिंह, बाबा फतेह सिंह सेवा सोसायटी द्वारा लगभग 85 लाख रुपए की लागत से बनी डायलसिस यूनिट का उद्घाटन किया। उन्होंने सोसायटी द्वारा दिए गए योगदान की सराहना करते हुए कहा कि समय की ज़रूरत है कि लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाना है। उन्होंने अस्पताल में डायलसिस करवाने आए मरीज़ों के साथ भी बातचीत की।

Leave a Comment