मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने जा रहे भाजयुमो के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने खदेड़ा


चंडीगढ़, 5 जुलाई (The News Air)

पंजाब में ड्रग्स के बढ़ते हुए प्रकोप को लेकर भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा (Bharatiya Janata Party Yuva Morcha) ने सोमवार को जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजयुमो के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदिर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) के आवास का घेराव करने की भी हर संभव कोशिश की। कार्यकर्ताओं ने पुलिस की ओर से लगाए गए बैरिकेड्स को हटाने की कोशिश की, परन्तु पुलिस ने उन्हें वाटर कैनन के इस्तेमाल से खदेड़ दिया।

भाजयुमो कार्यकर्ताओं का आरोप है कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह राज्य में ड्रग्स के कारोबार को रोकने में विफल रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान भाजयुमो कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े, वहीं पुलिस ने भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के नेताओं और कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है.

भाजयुमो के पंजाब प्रमुख भानु प्रताप राणा के नेतृत्व में प्रदर्शनकारियों ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और दोष लगाया कि मुख्यमंत्री पंजाब से नशीली दवाओं के खतरे को खत्म करने में विफल साबित हुए हैं। भाजयुमो कार्यकर्ताओं को मुख्यमंत्री कैप्टन अमिरंदर सिंह आवास की ओर जाने से रोकने के लिए चंडीगढ़ पुलिस ने पुलिसकर्मियों को तैनात किया था और बैरिकेड्स लगा दिए गए थे। परन्तु जब प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड्स के माध्यम से अपना रास्ता बनाने की कोशिश की, तो पुलिस ने यहां सेक्टर 17 में उन्हें तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया।

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए आंसू गैस के गोले भी छोड़े. इससे पहले मीडिया से बात करते हुए राणा ने पंजाब में अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार को कांग्रेस शासन के तहत फले-फूले राज्य में नशीली दवाओं के व्यापार पर अंकुश लगाने में सक्षम नहीं होने के लिए नारा दिया। उन्होंने कहा कि 2017 में सत्ता में आने से पहले अमरिंदर ने राज्य से नशीली दवाओं के खतरे को खत्म करने का वादा किया था, लेकिन वह ऐसा करने में पूरी तरह से विफल रहे हैं.


Leave a Comment