आपसी विवाद के चलते एक निहंग की उसी के साथी ने गला काट कर बेरहमी से किया कत्ल


चंडीगढ़, 22 मई

पंजाब के जिला तरनतारन में आपसी विवाद के चलते एक निहंग की उसके साथी ने गला काट कर बेरहमी से हत्या कर दी। पुलिस को घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटना स्थान पर पहुंच आरोपी निहंग सुरजीत सिंह सखीरा के खिलाफ हत्या का मामला दर्जकर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

घटना स्थान से मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा हलका खेमकरण के गांव सूरविड निवासी निहंग गिदर सिंह (43) के घर में बेटे ने जन्म लिया था। उन्होंने इसी खुशी में निहंग सिंहों को अपने घर बुलाया था। गुरुवार रात निहंग कर्मजीत सिंह (19) पुत्र सुरिंदर सिंह निवासी गांव लम्मा और सुरजीत सिंह पुत्र मेहताब सिंह निवासी गांव सखीरा के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था।

इन दोनों के विवाद को निहंग सिंहों ने शांत करवा दिया था। शुक्रवार की सुबह कर्मजीत अपने केश बांधकर दस्तार सजाने की तैयारी कर रहा था कि इसी दौरान निहंग सुरजीत ने किरपाण से उसकी गर्दन पर तीन वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल कर्मजीत को अमृतसर के कैडी अस्पताल ले जाया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। थाना कच्चा-पक्का के प्रभारी कुलवंत सिंह ने बताया कि आरोपी सुरजीत को शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा। हत्या में इस्तेमाल की गई किरपाण की बरामदगी अभी नहीं हुई है। 

जालंधर के गांव लम्मा निवासी सुरिंदर सिंह मजदूरी करते हैं। सुरिंदर एक लड़की व दो लड़कों के पिता हैं। उन्होंने बताया कि उनके घर सबसे पहले लड़की गुरप्रीत कौर (23) ने जन्म लिया था। इसके बाद उन्होंने अरदास करवाई थी कि लड़का पैदा होते ही उसे निहंग सिंह बनाएंगे। 

वर्ष 2002 में उनके घर कर्मजीत सिंह (19) ने जन्म लिया। कर्मजीत जब चार वर्ष का हुआ तो उन्होंने उसे निहंग सिंह बनाया और धार्मिक संप्रदाय को सौंप दिया। हालांकि बाद में उनके घर गुरजीत सिंह (14) ने जन्म लिया। वह कभी-कभी अपने लड़के से मिलने वहां चले जाते थे, जहां पर निहंग सिंहों का पड़ाव होता था। गुरुवार को उन्हें खबर मिली कि संप्रदाय का पड़ाव गांव सूरविड में हैं। शुक्रवार को सुबह जब अपने बेटे कर्मजीत से मिलने के लिए पहुंचे तो उन्हें पता चला कि साथी निहंग ने उनके बेटे की हत्या कर दी है।


Leave a Comment