पंजाब में नया सियासी बवाल, चन्नी सरकार ने आतंकी संगठन SFJ के जनरल सेक्रेटरी के भाई को यह पद देकर नवाज़ा


The News Air- (चंडीगढ़) पंजाब में CM चरणजीत चन्नी की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार नए सियासी बवाल में फंस गई है। कुछ हफ़्ते पहले सरकार ने बलविंदर सिंह पन्नू (कोटला बामा) को पंजाब जेनको का चेयरमैन नियुक्त किया है। चेयरमैन तैनात होने पर नेता को सरकारी गाड़ी, कुछ गनमैन और ऑफ़िस दिया जाता है, जिसका लाभ बलविंदर पन्नू को भी मिला, लेकिन बलविंदर प्रतिबंधित खालिस्तानी संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) के वर्ल्ड वाइड सेक्रेटरी जनरल अवतार सिंह पन्नू के भाई हैं, जिनकी SFJ में नंबर टू की पोजिशन है।

पंजाब सरकार में मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा के साथ बलविंदर पन्नू।

इस बारे में पहले कांग्रेस के भीतर से ही बग़ावत उभरी। अब अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने भी चन्नी सरकार से स्पष्टीकरण मांगा है, जिससे सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। हालांकि बलविंदर पन्नू ने कहा कि उनका अपने भाई से कोई लेना-देना नहीं है।

पहले कांग्रेस MLA बाजवा ने खोला था मोर्चा

कांग्रेस MLA फतेहजंग बाजवा ने सबसे पहले बलविंदर की नियुक्ति पर मोर्चा खोला था। उनका कहना था कि बलविंदर सिंह कोटलाबामा मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा का सबसे नज़दीकी व्यक्ति हैं, जिन्हें कुछ दिन पहले पंजाब जेनको का चेयरमैन बनाया है। उनके भाई अवतार पन्नू सिख फॉर जस्टिस के वर्ल्ड वाइड सेक्रेटरी जनरल हैं।

बाजवा ने कहा कि इस खालिस्तानी ऑर्गेनाइजेशन पर बैन लगा है। NIA कनाडा में जाकर उन पर कार्रवाई कर रही है। उनके भाई को पंजाब जेनको का चेयरमैन बनाकर सरकार क्या साबित करना चाहती है। उन्होंने इसकी NIA से जांच तक की मांग की। वहीं मंत्री बाजवा ने इस बारे में कोई भी जांच के लिए कहा।

पंजाब को किस तरफ़ ले जाना चाहती है सरकार: सुखबीर बादल

अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने कहा कि खालिस्तानी संगठन के पदाधिकारी के भाई को अहम पद देकर चन्नी सरकार क्या साबित करना चाहती है। पंजाब सरकार खालिस्तानियों को प्रोत्साहित कर रही है। उनके ऐसे फ़ैसलों से खालिस्तान समर्थकों को शह मिल रही है। वह बताएं कि सरकार पंजाब को किस तरफ़ ले जाना चाहती है।

सिद्धू पर भी उठाए सवाल

सुखबीर बादल ने नवजोत सिद्धू पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि सिद्धू पाकिस्तान जाकर आर्मी चीफ़ को गले लगाते हैं। पाक के पीएम इमरान ख़ान को बड़ा भाई कहते हैं। आख़िर कांग्रेस पंजाब में करना क्या चाहती है।

NIA करें जांच, इस्तीफ़ा दें मंत्री बाजवा

कांग्रेस नेता अश्विनी शेखड़ी ने इस मामले की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) से जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा पर गंभीर आरोप लगे हैं। SFJ को भारत सरकार ने बैन किया है। अगर मंत्री के उनसे संबंध हैं, तो इसकी जांच होनी चाहिए। हम बॉर्डर एरिया में रहते हैं, इसलिए हमारे लिए ख़तरा ज़्यादा है। जब तक जांच चलती है, मंत्री को ख़ुद इस्तीफ़ा देना चाहिए या फिर बर्खास्त कर देना चाहिए।

भाई से मेरा कोई लिंक नहीं, कभी फ़ोन पर भी बात नहीं की: बलविंदर पन्नू

इस बारे में बलविंदर सिंह पन्नू ने कहा कि अवतार सिंह पन्नू मेरा भाई है, मैं इस बात से नहीं मुकरता। अवतार पन्नू 1981 में अमेरिका गया था। उसके बाद 2007 में भारत आया। उसके बाद न कभी भारत आया और न ही मेरा उससे कोई लिंक है। मेरी उससे कभी फ़ोन पर तक बात नहीं हुई। एक मां के 2 बच्चे होते हैं। एक चोर निकल आता है तो दूसरा वकील, हमारा भी यही हिसाब है। मैं कट्‌टड़ कांग्रेसी हूं। मेरे ख़िलाफ़ सिर्फ़ बकवास की जा रही है। मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा का भी SFJ से कोई लिंक नहीं है, जिसको सवाल करना है तो वह मुझसे पूछ सकता है।

क्या है सिख फॉर जस्टिस

सिख फॉर जस्टिस खालिस्तानी संगठन है, जिसका हेडक्वार्टर US में है। काफ़ी समय पहले भारत सरकार इस संगठन को ग़ैरक़ानूनी क़रार दे चुकी है। इस संगठन के मेंबर भारतीय जांच एजेंसी के राडार पर हैं। नवंबर महीने के पहले हफ़्ते में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) आतंक की जांच के लिए कनाडा गई थी। इस संगठन का मुखी गुरपतवंत सिंह पन्नू भारत में नेताओं को धमकाने के साथ लाल क़िला पर तिरंगा लगाने जैसे कई घोषणाओं को लेकर विवादों में रह चुका है।


Leave a Comment

error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now