नवजोत सिद्धू के सलाहकार डा. प्यारे लाल गर्ग ने अपने पद से दिया इस्तीफ़ा

चंडीगढ़, 24 सितंबर (The News Air)
पंजाब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को एक और बड़ा झटका लगा है। सिद्धू के सलाहकार रहे बाबा फरीद यूनिवर्सिटी के पूर्व रजिस्ट्रार डा. प्यारे लाल गर्ग ने भी सलाहकार के पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। इससे पहले विवादित टिप्पणी के बाद मालविंदर सिंह माली नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार का पद छोड़ चुके हैं। गर्ग ने कहा कि ऐसे लोग सिद्धू के बहाने उनकी भी आवाज़ को दबाने में लगे हुए हैं, इसलिए उन्होंने जो सलाहकार बनने की सहमति दी थी वह वापस लेते हैं।


डा. प्यारे लाल गर्ग जाने माने सर्जन हैं। वह एजुकेशन एक्टिविस्ट भी हैं। उन्होंने अपने फ़ैसले के बारे में नवजोत सिद्धू को अवगत करवा दिया है। गर्ग के अपने क़रीबी लोगों से कहा कि उन्होंने पत्र में कहा कि सिद्धू कांग्रेस में नए विचार लाने वाले व्यक्ति हैं, पर उनके ख़िलाफ़ ग़लत ख़बरों को फैलाकर उन्हें देश से बाहर निकालने की साज़िशें रची जा रही हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि सिद्धू अपनी गंभीर योजनाओं पर अमल करने में कामयाब होंगे। डा. गर्ग जो पंजाब के हितों, मज़बूत संघवाद और समानता के लिए लंबे समय से आवाज़ उठाते रहे हैं, ने कहा कि वह इन मुद्दों पर बोलना बंद नहीं करेंगे।


बता दें कि इससे पहले मालविंदर सिंह माली ने 27 अगस्त को सलाहकार के पद से इस्तीफ़ा दे दिया था। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर कैप्टन अमरिंदर सिंह और उनके समर्थकों को अली बाबा चालीस चोर की संज्ञा दे दी। इससे पहले माली ने कश्मीर मुद्दे पर विवादास्पद टिप्पणी करके पूरी कांग्रेस पार्टी को राष्ट्रीय स्तर पर विरोधियों के निशाने पर ला दिया। उसके बाद उन्होंने इंदिरा गांधी का विवादास्पद कार्टून अपने फेसबुक पेज के कवर पर लगाया था जिसे भारी विरोध के बावज़ूद अब तक नहीं हटाया है। अमरिंदर सिंह लगातार माली को पद से हटाने के लिए आलाकमान से शिकायत कर रहे थे।

Leave a Comment