यूक्रेन पर एक्शन में नरेंद्र मोदी :हाई लेवल की मीटिंग जारी, NSA व 5 बड़े मंत्री हैं शामिल; 4 पड़ोसी देशों..

The News Air- रूस ने यूक्रेन पर हमला कर दिया है। इसके चलते वहाँ का एयर स्पेस बंद कर दिया गया, जिससे भारतीय नागरिकों को एयर लिफ़्ट करने जा रही एअर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट को भी रास्ते से वापस लौटना पड़ा है। हालांकि केंद्र सरकार ने यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए प्लान-B पर काम शुरू कर दिया है।

इसके लिए दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हाई लेवल मीटिंग चल रही है। बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस. जयशंकर, कैबिनेट सचिव और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल भी मौजूद हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि मीटिंग में होने वाले फ़ैसले की जानकारी रात 9.15 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी जाएगी।

उधर, यूक्रेन से भारतीय नागरिकों के बॉर्डर पार कर हंगरी, पोलैंड, स्लोवाक रिपब्लिक और रोमानिया पहुंचने की संभावना है। विदेश मंत्रालय ने बताया कि इस संभावना को देखते हुए इन चारों देशों के भारतीय दूतावासों से स्पेशल टीम यूक्रेन से सटे बॉर्डर पोस्ट पर भेज दी गई है। ये टीमें वहाँ पहुंचने वाले भारतीयों के दस्तावेज़ पूरे करने में मदद करेगी। न्यूज़ एजेंसी ANI के मुताबिक़, प्रधानमंत्री मोदी आज रात रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बात कर सकते हैं।

अपडेट्स…

  • केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल में कहा, यूक्रेन में जैसे ही एयर स्पेस खोला जाएगा। स्पेशल फ्लाइट्स फिर से शुरू की जाएंगी।
  • यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने राजधानी कीव में दूतावास के पास स्कूल में 200 से अधिक भारतीय छात्रों के रहने का प्रबंध किया है।
  • क़तर के दोहा में भारतीय दूतावास ने कहा है कि इंडिया-क़तर बाइलेटरल एयर एग्रीमेंट के तहत यूक्रेन से आने वाले भारतीय यात्रियों को यहां से होते हुए यात्रा करने की भारत सरकार ने अनुमति दे दी है।
  • यूक्रेन में भारत के राजदूत पार्थ सत्पथी ने कहा है कि हम यहां प्रशासन के संपर्क में हैं। भारत सरकार, विदेश मंत्रालय और भारतीय दूतावास प्रयास कर रहे हैं कि अपने नागरिकों को यहां (यूक्रेन) से कैसे निकाला जा सकता है। जब तक हर भारतीय वापस हमारे देश नहीं पहुंच जाता, तब तक भारतीय दूतावास यहां काम जारी रखेगा।
  • केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा, सरकार इराक़, कुवैत से भी भारतीयों को वापस लाई है। यूक्रेन में हवाई क्षेत्र बंद है, इसलिए भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।
  • भारतीय राजदूत पार्थ सत्पथी ने कहा, यूक्रेन में एयर स्पेस बंद है, रेलवे शेड्यूल पूरी तरह बिगड़ चुका है और सड़कें ध्वस्त हो गई हैं। मैं अपील करता हूं, जो भारतीय नागरिक जहां है, वहीं शांति से रहे और धैर्य के साथ हालात का सामना करे।
  • यूक्रेन में मौजूद इंडियन स्टूडेंट्स के मुताबिक़, इंडियन एम्बेसी ने स्टूडेंट्स को फ्लैट से निकलने के लिए मना कर दिया है। कहा गया है कि 6 दिन जहां, जैसे हैं, उसी हालत में बिताएं। यही नहीं, एम्बेसी ने एटीएम तक जाने से भी रोका है, क्योंकि कोई लूट की घटना हो सकती है।
1

Leave a Comment