मोदी बोले, परिवारवादियों ने गरीबों को वोट बैंक बनाकर रखा था, उनकी अब नींद हराम है

The News Air- लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिन परिवारवादियों ने गरीबों को वोट बैंक बनाकर रखा था, उनकी अब नींद हराम हो गई है। इनको लग रहा है कि उनका वोटबैंक जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी फतेहपुर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि परिवारवादियों ने गरीबों को वोट बैंक बनाकर रखा था, उनकी अब नींद हराम हो गई है। ये वोटबैंक के चक्कर में ही आपने देश को तबाह करके रखा है। मेरे देशवासियों का भला कीजिए, देश के लोग उदार हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि घोर परिवारवादियों की सोच परिवार से शुरू होकर परिवार पर ही खत्म हो जाती है। इस छोटी सी सोच से यूपी जैसा बड़ा प्रदेश नहीं चलाया जा सकता है।

यही वजह है कि फिर एक बार यूपी कह रहा है- आएगी तो भाजपा ही, आएंगे तो योगी ही। कहा, दशकों तक घोर परिवारवादी सत्ता में आए, इन्होंने छोटे किसानों के लिए कुछ किया। किसानों के नाम पर झूठी घोषणाएं करके अपने रिश्तेदार और परिवारवादियों की तिजोरियां भरी हैं। कहा, बेसहारा पशुओं से होने वाली परेशानी कम हो, आपका संकट दूर करने के लिए हम चिंता करते हैं। फतेहपुर के लोग कभी नहीं भूल सकते हैं कि पिछली सरकार के लोग यहां कैसे कैसे दबंगई करते थे। सरकारी जमीनों पर कब्जा, अवैध खनन माफिया ने इस पूरे इलाके को तबाह कर दिया था।

योगी जी की सरकार ने इन माफिया का इलाज करके सही किया है ना। घोर परिवारवादियों ने गन्ना मिलों को बंद किया, सिंचाई की सुविधा देने की बजाए अवैध खनन माफिया को पाला पोसा था। दशकों तक ऐसी परियोजनाओं को दबाकर रखा था, लेकिन तब इन्हें बुंदेलखंड के किसानों की याद नहीं आई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि परिवारवादियों की समस्या ये है कि अगर देश के गरीब, दलित, पिछड़े, आदिवासियों को साधन मिल गए, शक्ति मिल गई, तो वोटबैंक की राजनीति करने वालों की राजनीति धरी की धरी रह जाएगी। कट-कमीशन का माफिया आत्मनिर्भर अभियान से बर्बाद हो जाएगा। मोदी ने कहा कि आज कल ये लोग आत्मनिर्भर भारत अभियान का भी विरोध कर रहे हैं। ये भारत को अब भी दूसरों पर निर्भर रखना चाहते हैं। लेकिन ये देश अब आश्रित रहना नहीं चाहता। हमारे यहां जो चीजें बनती हैं, उसका हमें गौरवगान करना चाहिए।

नरेंद्र मोदी ने फतेहपुर में कहा कि टीके से दो लोग डरते हैं- एक कोरोना वायरस और दूसरा ये टीका विरोधी लोग। रिकॉर्ड वैक्सीन लगा ली है तो ये लोग बोलते हैं कि सरकार टीके के पीछे इतना पैसा क्यों खर्च कर रही है। लोगों की जिंदगी बचाने के लिए सरकार को पैसे खर्च करने चाहिए या नहीं। कहा कि डबल इंजन की सरकार ने सिंचाई परियोजनाएं 44 हजार करोड़ लागत से अधिक खर्च से खेत खेत तक पानी पहुंचाया।

केन बेतवा लिंक परियोजना को मैं पूरा करना चाहता हूं लेकिन परिवारवादियों को अगर मौका मिल गया तो ये उसमें भी रोड़ा अटकाएंगे। हमारी सरकार यहां हर घर जल अभियान चला रही है। भाजपा सरकार का फतेहपुर और इस क्षेत्र से स्नेह है। घोर परिवारवादियों ने यहां से पल्ला झाड़ लिया था, लेकिन भाजपा ने फतेहपुर की आकांक्षा को समझा और उसे पूरा किया।

(आईएएनएस)

Leave a Comment