महंत नरेंद्र गिरि ने मौत से पहले बनाया था वीडियो, जानें सुसाइड नोट में क्या लिखा?

प्रयागराज, 21 सितंबर (The News Air)
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) की कल (20 सितंबर) संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी और उनका शव उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित बाघंबरी मठ के कमरे से फांसी के फंदे से लटकता मिला था. शव के पास मिले सुसाइड नोट में शिष्य आनंद गिरि (Anand Giri) समेत कई लोगों के नाम थे.

महंत की मौत की वजह क्या है?-सोमवार को संत समाज को एक बड़ा झटका लगा, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई. प्रयागराज में बाघंबरी मठ के जिस कमरे में नरेंद्र गिरि का शव मिला, वो अंदर से बंद था. पुलिस ने दरवाज़ा तोड़कर शव को बाहर निकाला. पुलिस ने शुरुआती जांच में इसे ख़ुदकुशी का मामला बताया है.
जिस महंत से मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और बड़े-बड़े नेता आशीर्वाद लेने आते थे. यहां तक कि मौत से एक दिन पहले ही यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी उनसे मिले थे. उस दौरान भी उनके चेहरे पर ख़ुशी थी, किसी तरह का तनाव नहीं था. तो सवाल है कि आख़िर ऐसा क्या हुआ था, जिसकी वजह से महंत को ख़ुदकुशी जैसा क़दम उठाना पड़ा?

सुसाइड नोट से सामने आएगा सच?-पुलिस को जांच के दौरान कमरे से 8 पन्नों का एक सुसाइड नोट मिला है. पुलिस के मुताबिक़ सुसाइड नोट में उनके शिष्य आनंद गिरि (Anand Giri) का ज़िक्र है. सुसाइड नोट में आद्या तिवारी और संदीप तिवारी का भी ज़िक्र है. आद्या तिवारी लेटे हनुमान जी मंदिर के वरिष्ठ पुजारी हैं और संदीप तिवारी उनके बेटे हैं. सुसाइड नोट में आनंद गिरि का नाम सामने आने के बाद हरिद्वार से उन्हें उत्तर प्रदेश पुलिस ने हिरासत में ले लिया. बीती रात आनंद गिरि को हिरासत में लेने के बाद यूपी पुलिस उत्तर प्रदेश की ओर रवाना हो गई.

महंत नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट में क्या?-पुलिस ने महंत नरेंद्र गिरि (Narendra Giri) के कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें नरेंद्र गिरि ने अपने शिष्य से नाराज़गी की बात कही है. पुलिस के मुताबिक़ नरेंद्र गिरी ने सुसाइड नोट में आत्महत्या की बात लिखी है और वसीयतनामा भी लिखा है. मामले में अखाड़े की संपत्ति पर अधिकार का विवाद सामने आ रहा है. बता दें कि महंत नरेंद्र गिरि ने आनंद गिरि को अखाड़े से बाहर कर दिया था.

मौत से पहले नरेंद्र गिरि ने बनाया था वीडियो-महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) ने मौत से पहले अपने मोबाइल से एक वीडियो भी बनाया था, जो पुलिस के हाथ लगा है. पुलिस के मुताबिक़ नरेंद्र गिरि ने मौत से ठीक पहले 4 मिनट का वीडियो बनाया था. पुलिस ने नरेंद्र गिरि के मोबाइल को ज़ब्त कर लिया है और फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है.

आनंद गिरि ने ख़ुद को बताया बेक़सूर-हिरासत में लिए जाने से पहले आनंद गिरि मीडिया के सामने आए और ख़ुद को बेक़सूर बताया. आनंद गिरि ने आरोप लगाया कि मठ की ज़मीन हड़पने और वर्चस्व को लेकर नरेंद्र गिरि की हत्या की गई है और उन्हें झूठे केस में फंसाया गया है. नरेंद्र गिरि के दावे में कितना दम है ये तो जांच के बाद ही पता चलेगा. सुसाइड नोट में जिस आद्या तिवारी और संदीप तिवारी का ज़िक्र था, उन्हें भी प्रयागराज से हिरासत में लिया गया है.

उलझी हुई है नरेंद्र गिरि की मौत की गुत्थी-फ़िलहाल पुलिस अब इन सभी से पूछताछ कर ये पता लगाने की कोशिश करेगी कि महंत नरेंद्र गिरि और इनके बीच में किस तरह का विवाद था. जो लोग नरेंद्र गिरि को क़रीब से जानते थे, उन्हें अब भी यक़ीन नहीं है कि महंत नरेंद्र गिरि ख़ुदकुशी जैसा क़दम उठा सकते हैं. पुलिस महंत नरेंद्र गिरि के शव का पोस्टमॉर्टम कराना चाहती है ताकि सच्चाई सामने आ सके, लेकिन पोस्टमॉर्टम पर आखिरी फ़ैसला अखाड़ा परिषद के पंच परमेश्वर करेंगे. फ़िलहाल इस मौत की गुत्थी उलझी हुई है. सुसाइड नोट और आरोपियों के बयान से ही मौत की सबसे बड़ी मिस्ट्री सुलझने की उम्मीद है.

अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा पार्थिव शरीर-अब महंत नरेंद्र गिरि (Narendra Giri) के अंतिम संस्कार की भी तैयारियां की जा रही हैं और उनके पार्थिव शरीर को बाघंबरी मठ में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष महंत देवेंद्र सिंह ने बताया कि निरंजनी अखाड़े के पंच परमेश्वर के पहुंचने के बाद दिन के 11:30 बजे से पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन शुरू होगा.

निधन पर पीएम मोदी ने जताया शोक-महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर राजनीतिक गलियारों में शोक की लहर है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शोक जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेंद्र गिरि जी का देहावसान अत्यंत दुखद है. आध्यात्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित रहते हुए उन्होंने संत समाज की अनेक धाराओं को एक साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई. प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें. ॐ शांति!!’

अंतिम दर्शन के लिए प्रयागराज जाएंगे सीएम योगी-उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) महंत नरेंद्र गिरि (Narendra Giri) के अंतिम दर्शन के लिए प्रयागराज जाएंगे. नरेंद्र गिरी के निधन के बाद उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अपना सरकारी कार्यक्रम स्थगित कर दिया है और आज वो नरेंद्र गिरि के अंत्येष्ठी में शामिल होने के लिए प्रयागराज जाएंगे. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी अंतिम दर्शन के लिए प्रयागराज जाएंगे.

Leave a Comment