पटियाला जेल से बाहर निकलते ही खहरा बोले- सबकी पोल खोलूंगा; मुझे चुनाव..

The News Air- पंजाब में कांग्रेस के भुलत्थ से कैंडिडेट सुखपाल खैहरा पटियाला जेल से बाहर आ गए हैं। खैहरा को गुरुवार को हाईकोर्ट ने ज़मानत दी थी। इसके बाद उन्होंने कहा कि मुझे जेल जाने का मलाल नहीं लेकिन अफ़सोस है कि बेगुनाह होकर भी अंदर रहना पड़ा। खैहरा ने कहा कि मैं पूरी तरह से बेक़सूर था। मेरी तरह जेल के भीतर कई बेगुनाह बंद हैं।

उन्होंने कहा कि कई लोगों की कोर्ट से ज़मानत मंज़ूर हो चुकी है लेकिन उनके पास इतनी प्रॉपर्टी या साधन नहीं कि वह अपनी ज़मानत देकर बाहर आ सकें। खहरा ने कहा कि वह जल्द ही सबकी पोल खोलूंगा। खहरा को 18 नवंबर को कोर्ट ने जेल भेजा था। अब 68 दिन बाद वह जेल से बाहर आए। खैहरा 31 जनवरी को भुलत्थ सीट से नामांकन भरेंगे।

यह भी पढ़ें- पंजाब कांग्रेस में टिकटों को लेकर मचा घमासान, 15 सीटों पर बग़ावत; 5 सीटों पर कैंडिडेट बदलने..

विदेश से जमा डेढ़ करोड़ केजरीवाल के खाते में गया

खहरा ने कहा कि जिस फॉरेन फंडिंग की बात हो रही है, वह पैसा आम आदमी पार्टी के लिए आया था। वह विदेश गए थे लेकिन बाद में सारा पैसा आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल के खाते में गया। सुखपाल खैहरा ने कहा कि एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट ने उनके ख़िलाफ़ सनसनीखेज़ केस बनाया। जिसमें कोई सच्चाई नहीं है। इसके बावज़ूद कांग्रेस और राहुल गांधी ने उन पर भरोसा कर कैंडिडेट बनाया। इसके लिए वह पार्टी का धन्यवाद करते हैं।

यह भी पढ़ें- गुरु के ‘ओ-केजरी’ पर भड़की स्वाति मालीवाल:कहा- चुने हुए CM के लिए सड़क..

मनी लॉन्ड्रिंग और ड्रग केस में हुई थी गिरफ़्तारी

AAP छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए सुखपाल खहरा को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग और फाजिल्का ड्रग केस में गिरफ़्तार किया गया था। उन पर फाजिल्का ड्रग केस के सरगना से लगातार बातचीत का आरोप है। वहीं अमेरिका से क़रीब एक लाख डॉलर फ़ंड लाने का आरोप है। हालांकि खैहरा ने कहा कि फाजिल्का ड्रग केस में वे नामज़द नहीं हैं। इस केस पर सुप्रीम कोर्ट का स्टे है। वहीं अमेरिकी डॉलर अरविंद केजरीवाल को मिले थे। वह पार्टी के स्पॉन्सर्ड कार्यक्रम में यूएसए गए थे। उनका इससे लेना-देना नहीं। इसके अलावा उन्हें फेक पासपोर्ट स्कैम के मामले में भी जांच के दायरे में बताया गया है।

Leave a Comment