डांडिया उत्सव के पांचवें दिन में प्रवेश करते ही कलाग्राम मिनी गुजरात में बदला

चंडीगढ़, 30 सितंबर- उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र (एनजेडसीसी), संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आयोजित 10-दिवसीय वार्षिक ‘डांडिया उत्सव’ जिसका रंगारंग आगाज़ 26 सितंबर को हुआ, शुक्रवार को 5वें दिन में प्रवेश कर गया।
कार्यक्रम की शुरुआत डांडिया मंडली के सदस्यों द्वारा पारंपरिक परिधानों में देवी दुर्गा की प्रार्थना के साथ हुई, जिन्हें विशेष रूप से मेजबान एनजेडसीसी द्वारा आमंत्रित किया गया था। जब तक पूजा-अर्चना हुई, तब तक सैकड़ों डांडिया प्रेमी डांस फ्लोर पर उतर चुके थे। इस आयोजन की सुंदरता गुजरात राज्य का विशिष्ट लोक संगीत था जिसने दर्शकों को थिरकने पर मजबूर कर दिया।

22

“हम शहर के लोगों के लिए उत्सव की भावना के खोए हुए रोमांच को वापस लाने और लोगों की कलात्मक रुचि को पूरा करने का भरसक प्रयत्न कर रहे हैं। हमें बड़े पैमाने पर लोगों से विनम्र प्रतिक्रिया मिल रही है। कलाग्राम को सांस्कृतिक गतिविधि के केंद्र के रूप में बदलने के लिए हमारे पास कुछ प्रस्ताव हैं। हम उन पर गंभीरता से काम कर रहे हैं”, एनजेडसीसी के निदेशक, एम. फुरकान खान ने कहा।

33

कला और सांस्कृतिक, धार्मिक गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के प्रयासों के लिए मेजबान एनजेडसीसी की सभी आगंतुक प्रशंसा कर रहे थे। “लुप्त होती कला और संस्कृति के संरक्षक के रूप में कार्य करने और उन्हें भावी पीढ़ी के लिए संरक्षित करने के लिए एनजेडसीसी तारीफ का हकदार है। तीन साल से अधिक के अंतराल के बाद, कलाग्राम में डांडिया उत्सव का आयोजन करके, एनजेडसीसी ट्राइसिटी के कला प्रेमियों की आकांक्षाओं पर खरा उतरा है, ”चंडीगढ़ में एक सरकारी स्कूल की शिक्षिका मीनाक्षी ने कहा।

44

कार्यक्रम अधिकारी यशविंदर शर्मा ने इस अवसर पर कहा, “आने वाले मेहमानों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए, हमने आयोजन स्थल पर एक शाकाहारी भोजन स्टॉल की स्थापना की है, जहां उचित मूल्य पर शानदार व्यंजन उपलब्ध हैं। वार्षिक नवरात्रि में व्रत रखने वालों के लिए एक विशेष राजस्थानी ‘थाली’ भी उपलब्ध है।

55

उन्होंने कहा, ‘‘प्रदर्शन करने वाले जोड़ों में से, प्रतिदिन पांच सर्वश्रेष्ठ जोड़ों का चयन किया जाएगा। उन्हें 5 अक्टूबर को दशहरा के उत्सव वाले दिन समापन नृत्य कार्यक्रम में प्रदर्शन करना होगा और वे तीन नकद पुरस्कार जीतेंगे – रु.15,000/- (प्रथम), रु.10,000/- (दूसरा) और रु.5,000/- (तीसरा)’’ डांडिया उत्सव का दैनिक समय शाम 7 बजे से रात 10 बजे तक है।

11

Leave a Comment