519 करोड़ की लागत वाले बूड्ढ़ा नाला प्रोजैक्ट के काम में तेज़ी लाने के निर्देश

चंडीगढ़, 30 अगस्त: मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार ने बूड्ढ़ा नाला के कारण लोगों को पेश अलग- अलग समस्याओं से छुटकारा दिलाने के लिए 519 करोड़ के चल रहे प्रोजैक्ट के काम में तेज़ी लाने के निर्देश दिए हैं। इस प्रोजैक्ट का जायज़ा लेते हुए स्थानीय सरकार मंत्री डॉ. इन्दरबीर सिंह निज्जर ने जल आपूर्ति एवं सीवरेज बोर्ड के अधिकारियों को यह प्रोजैक्ट निर्धारित समय में पूरा करने के लिए कहा है, जिससे लुधियाना के बूड्ढ़ा नाला को पुनर्जीवित किया जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लोगों को साफ़-सुथरा पर्यावरण देने के लिए प्रतिबद्ध है और इस कार्य में कोई भी ढील बर्दाश्त नहीं की जाएगी। डॉ. निज्जर ने कहा कि इस प्रोजैक्ट का मुख्य उद्देश्य बूड्ढ़ा नाला में किसी भी तरह का गंदा पानी डाले जाने से रोकना है। यह गंदा पानी सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट से साफ किया जाएगा। इससे एक तरफ़ लोगों को गंदे पानी से छुटकारा मिलेगा और दूसरी ओर यह साफ किया गया पानी खेती के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा।

डॉ. निज्जर ने बताया कि पिछले समय के दौरान लुधियाना में उद्योगों के बड़ी स्तर पर बढऩे के कारण बूड्ढ़ा नाला बुरी तरह से प्रदूषित हुआ है। इन उद्योगों के रसायन, धातु और डेरियों के बचे-खुचे पदार्थ आदि, बूड्ढ़ा नाला में डाले जाने से लोगों के जीवन के लिए गंभीर ख़तरा पैदा हुआ। इसके अलावा सीवरेज का पानी भी बूड्ढ़े नाले में ही डाला जाता रहा है। इस कारण यह बूड्ढ़ा नाला सतलुज नदी के प्रदूषण का एक बड़ा कारण बन गया है। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए ही राज्य सरकार ने बूड्ढ़ा नाला को प्रदूषण मुक्त करने के लिए पहल कर रही है।

Leave a Comment