भर्ती मुहिम में तेजी लाने के दिए निर्देश, 33,553 पदों के लिए विज्ञापन जारी

चंडीगढ़, 15 जूनः (The News Air)
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की रोजगार सृजन सम्बन्धी प्रमुख योजना ‘घर -घर रोजगार’ के अंतर्गत बेरोजगार नौजवानों को नौकरियाँ मुहैया करवाने के लिए मुख्य सचिव श्रीमती विनी महाजन ने आज खाली पड़े पदों को जल्द भरने के लिए राज्य के समूह विभागों को चल रही भर्ती मुहिम में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं।

आज यहाँ प्रांतीय रोजगार योजना की प्रगति का जायजा लेने के लिए प्रशासनिक सचिवों के साथ मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये मुख्य सचिव ने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से 1 अप्रैल, 2017 से अब तक योग्य बेरोजगार नौजवानों को 17.61 लाख नौकरियां दी गई हैं, जिनमें से 58,508 नौकरियाँ सरकारी विभागों में देने के अलावा 7.06 लाख नौकरियाँ प्राईवेट क्षेत्र में और 9.97 लाख नौजवानों को स्वै-रोजगार के उद्यम में सहायता की गई है।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में मंत्रीमंडल ने सरकारी क्षेत्र में 1लाख नौजवानों की भर्ती के इलावा विभिन्न विभागों में 61,336 पद भरने के लिए 14 अक्तूबर, 2020 को प्रांतीय रोजगार योजना को मंजूरी दी थी।

मंत्रीमंडल के इस फैसले पर अमल करते हुये सरकार की तरफ से पहले ही 33,553 पदों के लिए विज्ञापन जारी किये जा चुके हैं जबकि विभिन्न विभागों में भर्ती प्रक्रिया प्रगति अधीन है और 1 अप्रैल, 2020 से अब तक 9,019 नियुक्तियाँ की गई हैं।
रोजगार सृजन, कौशल विकास और प्रशिक्षण विभाग के सचिव श्री राहुल तिवारी ने मुख्य सचिव को बताया कि इस भर्ती प्रक्रिया में कुल 39 विभाग शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि तीन विभागों में बड़े स्तर पर भर्ती होनी है, जैसे कि स्कूल शिक्षा विभाग में 16,681 पद, गृह मामले और न्याय विभाग में 11,271 पद और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में 5,834 पद मौजूद हैं। उन्होंने बताया कि यह भर्ती प्रक्रिया ग्रुप ए, बी और सी के पदों से सम्बन्धित है और यह भर्ती पी.पी.एस.सी./ पी.एस.एस.एस.बी./ विभागीय कमेटी/थर्ड पार्टी के द्वारा की जायेगी।
मुख्य सचिव ने सम्बन्धित विभागों को हिदायत की कि चल रही भर्ती प्रक्रिया में और तेजी लाई जाये और योग्य बेरोजगार नौजवानों की मेरिट के आधार पर भर्ती को यकीनी बनाया जाये।

Leave a Comment