‘सिद्धू माता-पिता-बहन के न हुए तो जनता के क्या होंगे’, NRI बहन ने ऐसे 10 सवालों के मांगे जवाब?

The News Air- (चंडीगढ़) कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू घरेलू विवाद में फंस गए हैं। उन पर जो NRI बड़ी बहन सुमन तूर ने आरोप लगाए हैं, वो बेहद गंभीर हैं। सुमन ने शुक्रवार को चंडीगढ़ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और मां की दुखद और मार्मिक कहानी का खुलासा किया। सुमन ने दावा किया कि पिता भगवंत सिद्धू की मृत्यु के बाद मां निर्मल भगवंत मानसिक पीड़ा से ग्रसित थीं। पिता को खो देने से मां डिप्रेशन में आ गईं थीं। तीन साल बाद दिल्ली रेलवे स्टेशन पर मां की लावारिस की तरह मौत हो गई। सुमन ने मीडिया के ज़रिए कहा कि वह सिद्धू से इन आरोपों का जवाब चाहती हैं। सुमन तूर मॉडल और गायक भी रह चुकी हैं और अमेरिका में रहती हैं।

यह भी पढ़ें- सिद्धू की NRI बहन के आरोपों पर पत्नी नवजोत कौर ने दिया स्पष्टीकरण, जानें क्या कहा?

पढ़िए आरोपों में 10 बड़ी बातें…

  • सुमन तूर ने आगे आरोप लगाया कि दुर्घटना में बड़ी बहन की मौत हो गई थी। उसके बाद भी सिद्धू ने शोक नहीं जताया और ना एक शब्द बोला।
  • सुमन तूर ने कहा कि वह सिद्धू की सगी बहन हैं। सिद्धू नैतिक रूप से दिवालिया है। जिसने पिता की मौत के बाद अपनी बूढ़ी मां को लावारिस छोड़ दिया। एक रेलवे स्टेशन पर उनकी लावारिस बुज़ुर्ग की तरह मौत हो गई।
  • सिद्धू ने इंडिया टुडे को एक लेख में झूठ बोला था कि जब वह 2 साल के थे, तब उनके माता-पिता अलग हो गए थे। वह (पैरेंट्स) अलग नहीं हुए थे। सिद्धू उन्हें अपने साथ नहीं रखता था।
  • सुमन ने कहा कि चूंकि मां एक लावारिस की तरह रेलवे स्टेशन पर मरी थीं। वह कैसे यह बात स्वीकार कर सकता था? इसलिए उसने इस लेख में झूठ बोलकर अपनी करतूत छुपाई है।
  • 1986 में सिद्धू ने अपनी मां को घर से निकाल दिया था। उसके बाद भी उन्होंने (मां) परिवार की इज़्ज़त नहीं उछाली और अपनी छवि बचाने के लिए दिल्ली के चक्कर काटे। 3 साल बाद मां की मौत हुई। पैसे के लिए सिद्धू ने पूरे घर को तबाह कर दिया।
  • जो व्यक्ति परिवार का नहीं हो सका, वह किसी और का क्या हो सकता है? परिवार के दुख सुख में वह कभी शामिल नहीं हुआ।
  • मैंने बहुत ही बुरा समय देखा है। सिद्धू ने घर अपने नाम कर लिया था और मुझे भी घर से निकाला। जो इंसान अपने परिवार का नहीं हो सका, वह किसी और का क्या होगा।
  • सिद्धू परिवार के सुख-दुख में कभी शामिल नहीं हुए। उसने (सिद्धू) ने यह सब प्रॉपर्टी के लिए किया।
  • 20 जनवरी को जब मैं उससे मिलने उसके घर गई तो उसने दरवाज़ा ही नहीं खोला। सुमन ने पूछा- आख़िर वह (सिद्धू) ऐसा कैसे कर सकता है? वह पैसे के लिए परिवार को इस तरह से कैसे छोड़ सकता है। मां को गुमनामी की मौत के लिए कैसे अकेला छोड़ सकता है?
  • मैं राजनीति नहीं कर रही हूं। यह परिवार का मसला है। वह तो बस जनता को सच बता रही हैं। वह जो बोल रही हैं, उसकी हर बात का सुबूत भी है।

यह भी पढ़ें-परिवारिक विवाद में घिरे नवजोत सिद्धू, NRI बहन फूट-फूटकर रोते हुए बोली…

क्या गरमाएगी पंजाब की राजनीति?

इस समय पंजाब में चुनावी माहौल है। दूसरी तरफ़ कांग्रेस में अभी भी कुछ ठीक नहीं चल रहा। आज नवजोत सिद्धू की बहन ने उन पर कई गंभीर आरोप लगाए तो वहीं इससे पहले सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के रिश्तेदार के घर ईडी की रेड हुई जहां से 10 करोड़ रुपए बरामद हुए थे। ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि सिद्धू कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष हैं और उनकी बहन ने जो आरोप लगाए हैं, क्या उससे पंजाब की राजनीति गरमाएगी? क्योंकि सुमन के आरोपों के तुरंत बाद ही अकाली दल ने सिद्धू पर हमला बोला और सवाल उठाए हैं। फ़िलहाल, सिद्धू का पारिवारिक विवाद लोगों के बीच ये चर्चा का विषय बन गया है।

Leave a Comment