हाय हाय बिजली, उफ उफ बिजली


चंडीगढ़, 9 जुलाई (The News Air)

पांच नदियों वाला पंजाब बादलों की बेरुखी और सरकार की नासमझी से इन दिनों पसीनो पसीना हो गया है। हाथों के पंखे माथे का पसीना सुखाने की जिद्द पर अड़े है, खेत सूखे हुए हैं, कारखानों में ताले लग गए हैं। फरमान राजा की सरकार का है उद्योगपति बेहाल मजदूरों को रोजी रोटी का अकाल। अकाली सरकार से शुरू हुई बिजली की ये मार कैप्टन सरकार में हाहाकार बन पूरे पंजाब को तबाह करने पर तुली है। हर जुबां पर यही दर्द है हाय हाय बिजली उफ्फ उफ्फ बिजली।

बिजली संकट जन-जन को खून के आंसू रुला रहा है। बिजली पर सिद्धू के ट्वीट बम रोज फूट रहे हैं, ट्वीट रूपी नैनो साइज के इन घातक हथियारों की मार दिल्ली तक खूब सुनाई दे रही है और सुर्खिया भी बटोर रही है। ये ट्वीटिया हमले कांग्रेस के लिए भीतरघाती,आत्मघाती साबित हो रहे है। मूंछो की लड़ाई में पंजाब बुरी तरह नजरंदाज किया जा रहा है पिस रहा है।

मैं बड़ा, मेरा कद बड़ा, मेरा पद, मेरा रुतबा बड़ा ,इस बड़े बनने के बीच कांग्रेस रोज पहले से ज्यादा छोटी और छोटी बहुत छोटी नजर आने लगी है। कांग्रेसी घमासान पंजाब के जख्मों पर नमक बन बरस रहे है। बादल दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रहे हैं सच न जमीन पर न ही आसमान पर, बादल मुक्त पंजाब लोगों की पहली पसंद बन चुकी है और कांग्रेसी सरकार जन मानस को खून के आसू बरसाने को मजबूर कर रही है। ऐसे में पंजाब को राहत की उम्मीद सिर्फ और सिर्फ ऊपर वाले से है जिस से भी बात करो तपाक से कहता है पंजाब सोते राजा के भरोसे नहीं हर पल जागते राम के भरोसे है।

उस पर भी जुल्म ये है कि पंजाब के राजा जी की कुंभकर्णी नींद सिर्फ दिल्ली की घंटी पर खुलती है। जनता की चीख-पुकार, घेराव ,धरना, घेराबंदी, विपक्ष के नारे, सिद्धू के ट्वीटिया तराने सब राजा जी के नींद के सामने बेदम है। राजा जी की नींद में किसी भी बात से खलल नही पड़ता, राजा जी तभी सरपट दौड़ते हैं जब दिल्ली सल्तनत उन्हें तलब करता है। राजा जी का फार्म हाउस धरना सेंटर में तब्दील हो चुका है जहां पुलिसिया पहरा, बैरिकेडिंग, पानी की बौछार का इंतजाम और तेल पिलाई लाठियां न्याय मांगने वालों के लिए हरदम चौबीस घंटे सजी-धजी खड़ी है।

पुलिसिया जोर, लाठियो के कहर, शासन के जुल्म से किसान, अध्यापक, कर्मचारी विपक्ष को रोकने वाली सरकार ने जनता की बिजली रोक कर अपने सत्ता वापसी के सपनों को विराम लगा दिया है। पंजाब में हाय हाय कप्तान जाओ जाओ कप्तान के तराने सरे आम सरे राह गूंज रहे हैं। ऐसे में आम आदमी की उम्मीद अब आप से बढ़ गई है।अरविंद केजरीवाल ने 300 यूनिट मुफ्त बिजली की घोषणा कर पंजाब में पॉलिटिकल करंट दौड़ा दिया है। जिस शाक से राजा और बादल खेमे सहम गए हैं, और आम आदमी स्वागत को उत्साहित हैं। आम आदमी मुखर हो बोल रहा है पंजाब का परिणाम बादल राजा की कैद नहीं आम आदमी की आजादी है।

पंडित संदीप


Leave a Comment