PHOTOS में करें मां वैष्णो देवी के दर्शन, रोजाना हजारों लोग पहुंच रहे मां के दरबार

The News Air-चैत्र नवरात्रि की शुरुआत से ही मां वैष्णो देवी के दर्शन करने रोजाना श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से चैत्र नवरात्रि त्योहार मनाया जाता है।

माता रानी के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों की बात करें तो सबसे पहले जम्मू स्थित माता वैष्णो देवी मंद‍िर का नाम आता है। नवरात्रि के दौरान हर बार की तरह इस बार भी मां वैष्णो देवी का भवन प्रांगण देसी-विदेशी फल- फूलों के साथ सजाया गया है, जिसे देख श्रद्धालु मंत्रमुग्ध हो रहे हैं।

मां वैष्णो देवी मंदिर का पुरानी गुफा मार्ग।
मां वैष्णो देवी मंदिर का पुरानी गुफा मार्ग।

माता के भवन में नवरात्रि के दौरान हर दिन हजारों भक्त पहुंच रहे हैं। कटड़ा से यात्रा भी शुरू होती है। यात्रा में पहला पड़ाव बालगंगा है और यहीं से भीड़ दिखनी शुरू हो जाती है। माता के दर्शन के लिए यात्रियों में काफी ज्यादा उत्साह है। यही वजह है कि भव्य तरीके से कटरा नगरी से लेकर मां के दरबार तक पूरे रास्ते को सजाया गया है।

बता दें कि हिंदू धर्म में नवरात्रि का विशेष महत्व होता है। इस दौरान मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है। बहुत से भक्त इस दौरान व्रत भी रखते हैं। माना जाता है कि जो भी मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की श्रद्धाभाव से पूजा करता है, मां उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी करती है।

भीड़ के कारण व कई अन्य कारणों से लाखों श्रद्धालु मां के दरबार तक माथा टेकने नहीं पहुंच पाते, हम आपको मां वैष्णो देवी के दरबार के दर्शन तस्वीरों में करा रहे हैं। देखें…

रात के समय जगमगाता मां वैष्णो देवी का दरबार।
रात के समय जगमगाता मां वैष्णो देवी का दरबार।
प्रांगण में श्री हनुमानजी को प्रभु श्रीराम व लक्ष्मणजी के रथ का सारथी दिखाया गया है।
प्रांगण में श्री हनुमानजी को प्रभु श्रीराम व लक्ष्मणजी के रथ का सारथी दिखाया गया है।
पवित्र गुफा के बाहर मां के सभी स्वरूपों को फूलों से सजाया गया है।
पवित्र गुफा के बाहर मां के सभी स्वरूपों को फूलों से सजाया गया है।
मां के दरबार की तरफ जाता रास्ता।
मां के दरबार की तरफ जाता रास्ता।
फूलों से सजे मां के तीन स्वरूप।
फूलों से सजे मां के तीन स्वरूप।
रास्ते में फूलों से सजाई गई श्री नाथजी की प्रतिमा।
रास्ते में फूलों से सजाई गई श्री नाथजी की प्रतिमा।
श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए बना फूलों का गेट।
श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए बना फूलों का गेट।
फूलों से सजा प्रांगण।
फूलों से सजा प्रांगण।
पूरे रास्ते को फूलों से सजाया गया है।
पूरे रास्ते को फूलों से सजाया गया है।
फूलों से सजा मां वैष्णो देवी का दरबार।
फूलों से सजा मां वैष्णो देवी का दरबार।

Leave a Comment