दिन ढलने से पहले गुरमीत राम रहीम को सुनारिया जेल में किया बंद

चंडीगढ़ 21 मईः

डेरा सिरसा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दिन ढलने से पहले ही एक बार फिर से सुनारिया जेल में पहुंचा दिया गया है। ज़िक्रयोग्य है कि आज प्रातःकाल यह ख़बर आई थी कि डेरा प्रमुख 48 घंटों की पैरोल पर जेल से बाहर आया हैं। बता दें कि सूत्रों से पता चला है कि राम रहीम ने 48 घंटे की पैरोल मांगी थी, लेकिन उसको 24 घंटे की ही पैरोल स्वीकार की गई थी। इस लिए राम रहीम को दिन ढलने से पहले पहले जेल में वापिस आने की शर्त पर अपनी बीमार मां से मिलने की इजाजत दी गई थी।

बतां दे कि पहले कहा गया था कि रोहतक की सुनारिया जेल में बंद डेरा मुखी गुरमीत राम रहीम को पैरोल मिल गई है। राम रहीम ने कहा था कि वह गुरुग्राम में अपनी बीमार मां से मिलने जा रहे हैं, जिसके बाद उनका आवेदन स्वीकार कर लिया गया। मिली जानकारी के मुताबिक राम रहीम को आज सुबह 6.15 बजे पैरोल पर रिहा कर दिया गया। राम रहीम इससे पहले कई बार पैरोल के लिए आवेदन कर चुका था, लेकिन सुरक्षा के कारणों से उसकी अर्जी खारिज कर दी गई थी।
आज पैरोल अर्जी स्वीकार कर ली गई थी। इस अर्जी के स्वीकार हो जाने के बाद गुरमीत राम रहीम करीब एक साल के बाद फिर जेल से बाहर आ गया है, लेकिन इस बार राम रहीम को ये पैरोल अपनी बीमार मां से मिलने के लिए दी गई है। पिछले साल भी राम रहीम को पैरोल मिली थी। उस वक्त उसने बीमारी को कारण बताया था। आपको बता दें कि राम रहीम ने अपनी बीमार मां से मिलने के लिए ये अर्जी डाली थी, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया है।

Leave a Comment