Good News: कैंसर और डायबिटीज मरीजों के लिए देशभर में खुलेंगे 1.50 लाख हेल्थ सेंटर, ये है प्लानिंग

नई दिल्ली, 26 अक्टूबर (The News Air)

कैंसर और डायबिटीज के मरीजों को सस्ता इलाज मुहैया कराने केंद्र सरकार देशभर में 1.50 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र खोलने जा रही है। इनमें 79000 से अधिक खोले जा चुके हैं। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) ने दी। 26 अक्टूबर को उन्होंने देश के हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर(Health infrastructure) पर सरकारी की प्लानिंग के बारे में मीडिया को बताया।

किसी भी महामारी से लड़ने में सक्षम बनेगा देश

केंद्रीय मंत्री ने कहा-देश को आने वाली किसी भी महामारी से लड़ने में सक्षम बनाया जाएगा। पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन पर 5 साल में 64,000 करोड़ खर्च किए जाएंगे। इसमें लक्ष्य है कि ब्लॉक, ज़िला, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर अच्छी लेबोरेटरी हो। इस योजना में अगले 5 साल में एक ज़िले में औसतन 90-100 करोड़ का खर्च किया जाएगा। ज़िला स्तर पर 134 तरह के टेस्ट हो जाएंगे। देश में दो कंटेनर ट्रेन तैयार रखी जाएंगी, कंटेनर में अस्पताल की सारी सुविधा तैयार होगी। इसका एक केंद्र चेन्नई और एक दिल्ली में होगा।

देश में 175 नए मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 157 नए मेडिकल कॉलेजों को मंजूरी दी है। यानी अब मेडिकल छात्रों की संख्या दोगुनी हो जाएगी। सरकार लोगों को किफायती इलाज दिलाने की दिशा में लगातार प्रयासरत है।

कोरोना के नए वेरिएंट पर हो रही रिसर्च

मनसुख मंडाविया ने बताया कि कोरोना वायरस(Corona Virus) के नए वेरिएंट AY.4.2 को लेकर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च(ICMR) और नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (NCDC) इस पर व्यापक रिसर्च कर रहा है।

कोवैक्सीन को जल्द मिलेगी परमिशन

कानपुर में मिले जीका वायरस को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस पर जांच हो रही है। मनसुख मंडाविया ने यह भी बताया कि भारत की कोवैक्सीन(Covaxin) को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की तरफ से जल्द मंजूरी मिल जाएगी।

एक खबर यह भी-भारत में कोविड-19 टीकाकरण का कुल कवरेज 102.94 करोड़ के पार पहुंचा

पिछले 24 घंटों के दौरान टीके की 64,75,733 लगाने के साथ आज सात बजे सुबह तक की अस्थायी रिपोर्ट के अनुसार देश का कोविड-19 टीकाकरण कवरेज 102.94 करोड़ (1,02,94,01,119) के पार पहुंच गया। इसे 1,02,28,502 सत्रों के जरिये पूरा किया गया। पिछले 24 घंटों में 15,951 मरीजों के स्वस्थ होने से स्वस्थ होने वाले मरीजों की कुल संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है (महामारी के शुरू होने से लेकर अब तक), जो इस समय 3,35,83,318 है। परिणामस्वरूप भारत की रिकवरी दर इस समय 98.19 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से अपने उच्चतम स्तर पर है।

लगातार 121 दिनों से 50 हजार से कम दैनिक मामले आ रहे हैं। यह केंद्र और राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के मिले-जुले और सतत प्रयासों का नतीजा है। पिछले 24 घंटों में कुल 12,428 दैनिक नए मामले दर्ज किए गए, जो 238 दिनों में न्यूनतम स्तर पर हैं। इस समय सक्रिय केसलोड दो लाख के आंकड़े के नीचे पहुंच गया है। वह वर्तमान में 1,63,816 है, जो 241 में दिनों में अपने न्यूनतम स्तर पर है। सक्रिय मामले देश के कुल पॉजीटिव मामलों का इस समय 0.48 प्रतिशत हैं, जो मार्च 2020 से न्यूनतम स्तर पर हैं।

देश में जांच क्षमता को लगातार बढ़ाया जा रहा है, जिसके सिलसिले में देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 11,31,826 जांचें की गईं। आमूल रूप से भारत में अब तक 60.19 करोड़ से अधिक (60,19,01,543) जांचें की गईं हैं।

एक तरफ देशभर में जांच क्षमता बढ़ाई गई, तो दूसरी तरफ साप्ताहिक पॉजीटिविटी दर इस समय 1.24 प्रतिशत है, जो पिछले 32 दिनों में दो प्रतिशत से नीचे कायम है। दैनिक पॉजीटिविटी दर 1.10 प्रतिशत है। वह भी पिछले 22 दिनों से दो प्रतिशत से नीचे और 57 दिनों से लगातार तीन प्रतिशत से कम पर बनी हुई है।

Leave a Comment