Glacier टूटने से मची तबाही, 8 की मौत, 384 लोगों को निकाला सुरक्षित

न्यूज ब्यूरो

देहरादून, 24 अप्रैल

उत्तराखंड में चमोली जनपद से लगे चीन सीमा पर ग्लेशियर टूटने के कारण सुमना स्थित बीआरओ कैम्प के पास हुए भारी हिमपात में भारतीय सेना ने 384 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है जबकि आठ शव बरामद हुए हैं तथा छह अन्य की हालत गंभीर है। भारतीय सेना के अतिरिक्त महानिदेशक जनसम्पर्क ने टिवटर के माध्यम से बताया कि अभी तक कुल 384 व्यक्ति सुरक्षित निकाले जा चुके हैं।

राहत कार्य प्रगति पर है। इस बीच मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत हेलीकॉप्टर से प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण कर स्थिति का आकलन कर रहे हैं। आपको बताते चलें कि उत्तराखंड के चमोली जिला से लगे भारत-चीन (तिब्बत) सीमा क्षेत्र पर नीती घाटी स्थित सुमना में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के कैंप के समीप शुक्रवार को ग्लेशियर टूटकर गिर गया। राज्य सरकार ने अर्लट जारी किया है।

सूचना के मिलते ही राज्य आपदा प्रतिवादन बल (एसडीआरएफ) का दल घटनास्थल के लिए रवाना हो गया था। एसडीआरएफ के प्रवक्ता निरीक्षक संजय रौथाण ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार रात 10:16 बजे सुमना पोस्ट से आगे रिमझिम पोस्ट की तरफ ग्लेशियर टूटने की घटना हुई, जहांं ग्रीफ द्वारा पुल निर्माण का कार्य किया जा रहा था। उन्होंने बताया कि रात में मौसम अत्यधिक खराब होने और हिमपात से मार्ग अवरुद्ध होने के बावजूद राहत दल इंस्पेक्टर हरक सिंह राणा के नेतृत्व में रवाना हुआ।

Leave a Comment