पंजाब पुलिस द्वारा कैनेडा के लखबीर लंडा गैंग से सम्बन्धित गैंगस्टर बिहार से गिरफ़्तार

चंडीगढ़, 28 सितम्बर: मुख्यमंत्री भगवंत मान के दिशा-निर्देशों पर समाज विरोधी तत्वों के विरुद्ध चल रही जंग के हिस्से के तौर पर पंजाब पुलिस ने कैनेडा स्थित गैंगस्टर लखबीर सिंह उर्फ लंडा गैंग के एक गुर्गे को बिहार से कत्ल, कत्ल की कोशिश, हमला करने और लूटपाट से सम्बन्धित कई घृणित अपराधों में शामिल होने के दोष अधीन गिरफ़्तार किया है। यह जानकारी आज यहाँ डायरैक्टर जनरल आफ पुलिस (डीजीपी) पंजाब गौरव यादव ने दी।

गिरफ़्तार किये गए गैंगस्टर की पहचान अमृतसर के करन मलिक उर्फ करन मान के तौर पर हुई है, जोकि एस. आई. की कार के नीचे आई. ई. डी. लगाने के मामले में मुख्य दोषी और कैनेडा स्थित गैंगस्टर लखबीर लंडा के साथी युवराज सबरवाल उर्फ यश का करीबी बताया जाता है। करन मलिक का पुराना अपराधिक रिकार्ड है और वह पंजाब पुलिस को वांछित है।

डीजीपी गौरव यादव ने बताया कि गैंगस्टर करन मलिक के बिहार के जि़ला जमुयी में किसी जगह पनाह लेने की सूचना मिलने के बाद, पंजाब पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स( एजीटीएफ) की टीम ने केंद्रीय एजेंसियों और बिहार पुलिस के साथ सांझा आपरेशन में तलाशी शुरू की और बिहार के जि़ला जमुयी के गाँव दरीमा में मुलजिम को काबू करने में सफल रही।

अधिक जानकारी देते हुये उन्होंने बताया कि दोषी करन मलिक ने अपने साथियों के साथ मिल कर जुलाई 2021 में एक लड़ाई के दौरान करन नाम के व्यक्ति का कत्ल कर दिया था। इस सम्बन्धी इंडियन पीनल कोड ( आई. पी. सी.) की धारा 302, 148 और 149 और हथियार एक्ट की धाराओं 25/ 54/ 59 के अंतर्गत पुलिस स्टेशन बी-डिविजऩ अमृतसर सिटी में एफ. आई. आर. नम्बर 184 तारीख़ 18. 07. 21 दर्ज है।

इसके इलावा मुलजिम करन मलिक ने अपने साथियों के साथ मिलकर अगस्त 2021 में अमृतसर की फेअरलैंड कालोनी में लाल चंद ज्वैलरज़ से 530 ग्राम सोना, 6 किलो चाँदी और 1 लाख रुपए की नकदी लूट ली थी, जिस सम्बन्धी थाना मजीठा रोड अमृतसर में एफ. आई. आर. नम्बर 149/ 2021 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया था।

डीजीपी ने बताया कि प्राथमिक जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि मुलजिम करन मलिक ने साहिल नामी हथियारों के तस्कर से 40,000 रुपए प्रति हथियार के हिसाब .32 बोर के हथियार खऱीदे थे। जि़क्रयोग्य है कि साहिल समेत उसके साथी हिम्मत निवासी अमृतसर को कुछ दिन पहले पंजाब पुलिस ने गिरफ़्तार किया था और उनके कब्ज़े में से चार हथियार बरामद हुए थे।

बताने योग्य है कि पुलिस करन मलिक के छोटे भाई अर्जुन मलिक उर्फ अर्जुन को पकडऩे के लिए छापेमारी कर रही है, जोकि कई अपराधिक गतिविधियों में भी शामिल है। इस नैटवर्क का पर्दाफाश करने के लिए आगे जांच जारी है।

Leave a Comment