डा. नवजोत कौर सिद्धू ने पंजाब सरकार को लिखा पत्र, फिर से करना चाहती है डाक्टरी

चंडीगढ़, 5 जून

Dr. Navjot Kaur Sidhu: देश भर में कोरोना का प्रकोप लगातार जारी है। इसी को देखते कांग्रेस नेता, पूर्व विधायक नवजोत सिंह सिद्धू की धर्म पत्नी डा: नवजोत कौर सिद्धू ने बड़ा फ़ैसला लिया है। उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान पंजाब के लोगों की सेवा के लिए डाक्टर के तौर पर सेवा निभाने की पेशकश पंजाब सरकार को की है। डा: सिद्धू सेहत विभाग में बतौर डाक्टर तैनात थी और जिन्होंने भाजपा की टिकट पर अमृतसर से विधान सभा चुनाव लड़ने के लिए नौकरी छोड़ दी थी। विधायक चुने जाने के बाद वह पंजाब सरकार में सेहत और परिवार भलाई विभाग के मुख्य पार्लीमानी सचिव भी रह चुके हैं। अब इस कठिन समय के दौरान लोगों की सेवा के लिए आगे आने की इच्छा ज़ाहिर करते डा: सिद्धू ने एक पत्र पंजाब के प्रिंसिपल सचिव, सेहत और परिवार भलाई को बीती 3 मई लिखा है।

सिद्धू ने अपने पत्र में अपने डाक्टर होने और सरकार के पास नौकरी किए होने का हवाला देते उन्होंने कहा है कि 2012 में उन्होंने चुनाव लड़ने के लिए सवैइच्छक सेवामुक्ति ले ली थी, परन्तु अब कोविड के कारण बने ताज़ा हालातों को देखते वह फिर डाक्टर के तौर पर अपने प्रदेश के लोगों की सेवा करना चाहते हैं। उन्होंने लिखा है कि इस तरह घर बैठ कर लोगों के दुख-तकलीफ़ को देखना उनकी ज़मिर को झिंजोड़ रहा है। डा: नवजोत कौर सिद्धू ने अपने पत्र में लिखा है कि वह पटियाला में रह रहे हैं और वह चाहती हैं कि उनको कोई ड्यूटी दे दी जाए, जिससे वह प्रदेश के लोगों के काम आ सकें। सरकार को यह जानकारी देते हुए कि उनके पास इस समय कोई राजसी पद नहीं है, डा: सिद्धू ने यह भी भरोसा दिया है कि वह सरकार की तरफ से सेवा निभाते हुए, किसी तरह की कोई राजसी सक्रियता में हिस्सा नहीं लेंगे। यह भरोसा प्रकटाते हुए कि उनको यह सेवा निभाने की आज्ञा दी जायेगी, डा: सिद्धू ने प्रिंसिपल सचिव को यह निवेदन किया है कि उनको कोई भी ‘भूमिका’ अलाट करने से पहले उनकी सीनियरता का ख़्याल रखा जाए। अब देखते हैं कि सरकार इस फ़ैसले पर किया फ़ैसला लेती है।

Leave a Comment