ड्यूटी दौरान जान गंवाने वाले डॉक्टरों के परिवारों की मदद के लिए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री आए आगे

तमिलनाडु, 12 मई

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने आज कोविड मरीजों के इलाज के दौरान ड्यूटी पर जान गंवाने वाले डॉक्टरों के परिवारों के लिए मुआवजे की घोषणा की है। उन 43 डॉक्टरों के परिवारों को 25 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। कोरोना मरीजों की देखभाल करते हुए ड्यूटी के दौरान इन डॉक्टरों की मौत हो गई थी। स्टालिन ने उन चिकित्सा सेवा कर्मियों को भी प्रोत्साहन की घोषणा की जो कोविड मरीजों के उपचार में शामिल थे।

तीन महीने के लिए प्रोत्साहन योजना के अनुसार अप्रैल, मई और जून जब से कोविड की दूसरी लहर फैली है, तो डॉक्टरों को 30,000 रुपये, नर्स और ट्रेनी डॉक्टरों को 20,000 रुपये का भुगतान किया जाएगा। इसके अलावा सैनिटरी कर्मचारी, काम करने वाले लोगों को भी भुगतान किया जाएगा। सीटी स्कैन विभाग में, एम्बुलेंस कर्मचारियों को 15,000 रु दिए जाएंगे।

तमिलनाडु में अब तक के सर्वाधिक 29,272 नए मामले आएतमिलनाडु में मंगलवार को कोविड-19 के अब तक के सर्वाधिक 29,272 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 14 लाख 38 हजार 509 हो गए। जबकि पिछले 24 घंटों में 298 मौतें होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 16,178 हो गई। एक मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, 19,182 लोगों को आज छुट्टी दे दी गई, जिससे राज्य में अब तक ठीक हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 12,60,150 तक पहुंच गई।

राज्य में अब 1,62,181 मरीजों का इलाज चल रहा है। नए संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने आम जनता और उद्योगों से अपील की कि वे खतरनाक महामारी से लड़ने के लिए मुख्यमंत्री जन राहत कोष में दान करें। राज्य की राजधानी में संक्रमण के 7,466 नए मामले आए हैं, जिससे यहां अब तक आए मामलों की संख्या 4,04,733 हो गई है। इससे पहले दिन में, मुख्यमंत्री ने शहर के मीनांबक्कम में ए एम जैन कॉलेज में एक सिद्ध कोविड-19 देखभाल केंद्र का उद्घाटन किया।राज्य भर में 14 ऐसे केंद्र स्थापित करने की स्वास्थ्य विभाग की योजना के तहत इसकी स्थापना की गई है।

Leave a Comment