डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम अपने मैनेजर की हत्या में दोषी क़रार, CBI विशेष अदालत 12 अक्टूबर को सुनाएगी सज़ा


नई दिल्ली, 8 अक्टूबर (The News Air)

Gurmeet Ram Rahim Singh: दो साध्वी से बलात्कार और एक पत्रकार की हत्या मामले में हरियाणा की रोहतक जेल में सज़ा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim) को बड़ा झटका लगा है. रणजीत सिंह हत्याकांड मामले (Ranjeet Singh Murder Case) में सीबीआई की विशेष अदालत ने राम रहीम समेत पांच आरोपियों को दोषी क़रार दिया है. कोर्ट सभी दोषियों को 12 अक्टूबर को सज़ा सुनाएगी.

वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए पेश हुए राम रहीम-रणजीत सिंह हत्याकांड मामले (Ranjeet Singh Murder Case) में आरोपी डेरा मुखी गुरमीत राम रहीम और कृष्ण कुमार शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए सीबीआई की विशेष अदालत में पेश हुए. वहीं आरोपी अवतार, जसवीर और सबदिल प्रत्यक्ष रूप से कोर्ट में पेश हुए.

2002 में हुई थी रणजीत सिंह की हत्या-डेरा सच्चा सौदा की प्रबंधन समिति के सदस्य रहे कुरुक्षेत्र के रणजीत सिंह (Ranjeet Singh) की हत्या 10 जुलाई 2002 को हुई थी. डेरा प्रबंधन को शक था कि रणजीत सिंह ने साध्वी यौन शोषण की गुमनाम चिट्ठी अपनी बहन से ही लिखवाई थी. रणजीत सिंह के पिता पुलिस जांच से असंतुष्ट थे और उन्होंने जनवरी 2003 में हाई कोर्ट में याचिका दायर कर सीबीआई जांच की मांग की थी. हाई कोर्ट से आदेश के बाद सीबीआई ने मामले की जांच करते हुए आरोपियों पर केस दर्ज़ किया था. साल 2007 में कोर्ट ने आरोपियों पर चार्ज फ्रेम किए थे.

सुनारिया जेल में बंद हैं गुरमीत राम रहीम-बता दें कि गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim) को अगस्त 2017 में सीबीआई की विशेष अदालत ने दो महिलाओं से बलात्कार के आरोप में 20 साल जेल की सज़ा सुनाई थी. वहीं जनवरी 2019 में एक अदालत ने 16 साल पहले हुए एक पत्रकार के मर्डर के आरोप में राम रहीम और तीन अन्य लोगों को उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई थी. इसके बाद से ही गुरमीत राम रहीम हरियाणा के सुनारिया जेल में कैद हैं.


Leave a Comment