यूक्रेन में हुआ साइबर अटैक:डिफेंस मिनिस्ट्री और मिलिट्री समेत 10 वेबसाइट्स हैक

The News Air- रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध की आशंका बढ़ती जा रही है। इस संकट के बीच यूक्रेन में साइबर हमले की ख़बर सामने आई है। यूक्रेन की 10 महत्वपूर्ण वेबसाइट्स को हैक कर लिया गया है। यूक्रेन ने कहा कि देश के रक्षा मंत्रालय, सैन्य बल और दो सरकारी बैंकों की वेबसाइट एक साइबर हमले (Cyber Attack) का शिकार हुईं हैं। इसके पीछे रूस का हाथ हो सकता है।

साइबर अटैक यूक्रेन को निशाना बनाने वाले कई हैकिंग ऑपरेशनों में से एक है। ये हमला तब हुआ है, जब यूक्रेन पर रूसी हमले की आशंका लगातार बढ़ती जा रही है। हालांकि, रूस ने इस आरोप से इनकार किया। कहा- हमने अपने कुछ सैनिकों को बॉर्डर से पीछे हटने के लिए कहा है, लेकिन पश्चिमी शक्तियों ने इसका सबूत मांगा है।

यूक्रेन पर DDOS साइबर अटैक

यूक्रेन पर हुए साइबर अटैक को ‘डिस्ट्रिब्यूटेड डिनायल ऑफ़ सर्विस’ हमला बताया जा रहा है. इसका मतलब है कि किसी सर्वर को टारगेट कर उस पर इंटरनेट डेटा की बाढ़ ला देना, ताकि सामान्य तौर पर आने वाला डेटा बाधित हो जाए।

यूक्रेन के सरकारी और निजी बैंकों पर साइबर अटैक हुआ है। इन बैंकों के कस्टमर शिकायत कर रहे हैं कि बैंक के ऐप्स नहीं चल रहे हैं। इससे लोगों को पेमेंट करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यूक्रेन ने कस्टमर्स को भरोसा दिलाया है कि उनका पैसा सुरक्षित है। मंत्रालय ने कहा कि भले ही रूस पीछे हट गया हो, लेकिन यह संभव है कि उसी ने इस हमले को अंजाम दिया हो।

यूक्रेन साइबर अटैक पर बाइडेन की चेतावनी

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा, अगर रूस हमारी कंपनियों या महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के ख़िलाफ़ साइबर हमले हमला करता है, तो हम जवाब देने के लिए तैयार हैं। इसके पहले जो बाइडेन ने रूस के प्रधानमंत्री पुतिन से बातचीत की थी, जो कि बेनतीजा रही थी। बातचीत के दौरान बाइडेन ने पुतिन से युद्ध टालने की अपील की और चेतावनी भी दी कि अगर युद्ध हुआ तो रूस को क़रारा जवाब मिलेगा।

रूस और अमेरिका के बीच बातचीत बेनतीजा निकलने के बाद रूस ने अमेरिका को सनकी तक कह डाला था। इतना ही नहीं अमेरिका ने यूक्रेन स्थित अपने दूतावास को ख़ाली करने का निर्देश भी भेज दिया। सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि दोनों शीर्ष नेताओं के बीच हालात स्थिरता को लेकर बात नहीं बन पाई है।

यूक्रेन में पहले भी हो चुका है साइबर अटैक

जनवरी में भी यूक्रेन पर साइबर अटैक हुआ था। तब 70 वेबसाइट्स ने काम करना बंद कर दिया था। उस समय भी यूक्रेन ने रूस पर आरोप लगाया था। रूस ने साल 2017 में यूक्रेन पर बड़ा साइबर हमला किया था। बड़े पैमाने पर हुए साइबर हमलों के बाद यूक्रेन की कई सरकारी वेबसाइट अस्थायी रूप से बंद हो गई थीं। NotPetya नाम के वायरस के ज़रिए दुनियाभर में 10 अरब डॉलर का नुक्सान किया था।

Leave a Comment