Covid-19 3rd Wave: 5 दिनों में 242 बच्चे हुए कोरोना संक्रमित

कर्नाटक, 11 अगस्त (The News Air)

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के थमने के बाद अब तीसरी लहर की आशंका बढ़ गई है। ऐसे में सभी राज्य सरकारें इससे निपटने की तैयारी में जुटी है। इसी बीच कर्नाटक में महामारी की तीसरी लहर की आहट सुनाई दे रही है। 

राज्य की राजधानी बेंगलुरु में पिछले पांच दिनों में ही 242 बच्चों के कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इस संख्या ने विशेषज्ञों की चिन्ता बढ़ा दी है। इधर, चिकित्सा अधिकारी संख्या बढ़ने की चेतावनी दी है।

सूत्रों के अनुसार, ब्रुहट बेंगलुरु महानगर पालिका (BBMP) के अधिकारियों ने कहा है कि पांच दिनों में 19 साल से छोटे 242 बच्चे संक्रमित हुए हैं। इनमें 106 बच्चों की उम्र नौ साल से कम है। जबकि, 136 बच्चों की उम्र नौ से 19 साल के बीच है। बता दें कि महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप के कम होने के बाद विशेषज्ञों ने तीसरी लहर के आने और उसमें बच्चों के प्रभावित होने की बात कही है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने कहा, “संक्रमित बच्चों की संख्या आने वाले दिनों में तीन गुना तक बढ़ सकती है और यह राज्य के लिए बड़ा ख़तरा साबित हो सकती है।” उन्होंने कहा, “हम बस इतना कर सकते हैं कि बच्चों को घर में रखकर उन्हें वायरस से बचा सकते हैं। बड़ों की तुलना में बच्चों में इम्युनिटी कमज़ोर होगी। ऐसे में परिजनों से अपील है कि वह बच्चों को घर में रखें और सभी कोरोना प्रोटोकॉल के पालन करें।”

बता दें कि कर्नाटक सरकार ने पहले ही सभी ज़िलों में नाइट और वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है। इसके अलावा केरल-कर्नाटक, महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमाओं में प्रवेश पर पाबंदियां भी लगाई गई है। राज्य की सीमा पर केवल 72 घंटे पुरानी RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट लाने वालों को ही प्रवेश की अनुमति दी जा रही है। इसी तरह बिना रिपोर्ट पहुंचने वाले लोगों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है और उन्हें वापस भेजा जा रहा है।

कर्नाटक में पिछले एक महीने से प्रतिदिन औसतन 1,500 नए मामले सामने आ रहे हैं। राज्य में मंगलवार को भी 1,338 नए मामले सामने आए और 31 लोगों की मौत हुई है। इसी के साथ राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 29,21,049 ​पर पहुंच गई है। इनमें से अब तक 36,848 की मौत हो चुकी है। वर्तमान में 22,702 सक्रिय मामले हैं। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने प्रति माह वैक्सीन की एक करोड़ ख़ुराक लगाने का वादा किया है।

Leave a Comment