Corona XE variant Symptoms: कोरोना वायरस के XE स्ट्रेन का फैला खौफ, जानिए इस नए वेरिएंट के लक्षण

Corona XE variant Symptoms: कोरोना महामारी की जंग दुनिया से खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। भारत में भी कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus pandemic) का खतरा अभी टला नहीं है। एशिया और यूरोप के कई देश कोरोना की चौथी लहर (Covid 4th wave) का सामना कर रहे हैं। कोरोना के कई नए वेरिएंट की वजह से नए मामलों में तेजी से उछाल देखा जा रहा है। इस बीच भारत में कोरोना के सबसे ज्यादा तेज फैलने वाले XE variant का पहला मामला मिला है। XE वेरिएंट का मामला ऐसे समय में सामने आया है, जब देश में नए कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या मे तेजी से गिरावट जारी है।

मुंबई में 50 साल की महिला ने फरवरी महीने में दक्षिण अफ्रीका की यात्रा की थी। मुंबई महानगर पालिका (Brihanmumbai Municipal Corporation -BMC) के मुताबिक महिला में संक्रमण बिना लक्षण वाला (asymptomatic) था। इसके पहले उन्हें कोई बीमारी नहीं थी। उसने कॉमिमेटी वैक्सीन की दोनों खुराक ले रखी थी। हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने BMC के XE वेरिएंट से संक्रमित मरीज के दावे को खारिज कर दिया है।

जानिए XE वेरिएंट क्या है

WHO के मुताबिक, XE वेरिएंट कोरोना के दो अलग-अलग वेरिएंट से मिलकर बना है। यह वायरस Omicron BA.1 और BA.2 के जुड़ने से बना है। ओमीक्रोन BA.1 और BA.2 वेरिएंट का कॉम्बिनेशन है। WHO ने एक रिपोर्ट में कहा था कि कोरोना के वेरिएंट आपस में जुड़कर कुछ नए वेरिएंट बना रहे हैं। कुछ दिनों पहले ओमीक्रोन और डेल्टा से मिलकर डेल्टाक्रोन कॉम्बिनेशन तैयार हुआ था। अब ओमीक्रोन के दो सब वेरिएंट BA1 और BA2 का रीकॉम्बिनेंट तैयार हुआ है, जिसे XE कहा जा रहा है। ऐसा माना जाता है कि कोई कॉम्बिनेशन तब तैयार होता है, जब कोई व्यक्ति एक से अधिक प्रकार से संक्रमित हो जाता है।

XE वेरिएंट 10 गुना तेजी से फैलता है

WHO के मुताबिक, अब तक कोविड के तीन हाइब्रिड या रिकॉम्बिनेंट स्ट्रेन का पता चला है, जिसमें से पहला- XD, दूसरा- XF और तीसरा- XE है। इनमें से पहले और दूसरे वेरिएंट डेल्टा और ओमीक्रोन के कॉम्बिनेशन से पैदा हुए हैं, जबकि तीसरा ओमीक्रोन सबवेरिएंट का हाइब्रिड स्ट्रेन है। WHO ने कहा है कि ये नया वेरिएंट ओमीक्रोन BA.2 से भी 10 गुना ज्यादा संक्रामक है। इसका मतलब ये हुआ कि ओमीक्रोन के ओरिजनल वेरिएंट से ये 43 फीसदी ज्यादा तेजी से फैलता है। बता दें कि XE वेरिएंट ओमीक्रोन के दो सब लीनेज BA.1 और BA.2 से मिलकर (रीकॉम्बिनेंट स्ट्रेन) बना है। BA.2 सब-वेरिएंट अब दुनियाभर के लिए सबसे बड़ी चिंता बन चुका है, जिसके सीक्वेंस्ड मामलों की संख्या लगभग 86 फीसदी है।

XD, XE और XF में से कौन सबसे गंभीर

प्रसिद्ध वायरोलॉजिस्ट टॉम पीकॉक ने कहा कि रिकॉम्बिनेंट वेरिएंट भी पहले के वेरिएंट के जैसे ही खतरनाक हो सकते हैं। इनमें एक ही वायरस (जैसे XE या XF) से स्पाइक और संरचनात्मक प्रोटीन होते हैं। इनमें से XD सबसे अधिक चिंता वाला वेरिएंट लग रहा है। इस वेरिएंट से संक्रमित मरीज जर्मनी, नीदरलैंड और डेनमार्क में मिल चुके हैं।

सबसे पहले ब्रिटेन में मिला

XE वेरिएंट के बारे में 19 जनवरी को सबसे पहले ब्रिटेन में पता चला। इसे ओमिक्रोन सब वेरिएंट का हाइब्रिड स्ट्रेन बताया जा रहा है। इसके अब तक 600 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। फिलहाल मौजूदा समय में ब्रिटेन में स्टेल्थ ओमीक्रोन के मुकाबले XE वेरिएंट के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके अलावा ये वेरिएंट फ्रांस, डेनमार्क और बेल्जियम में भी पाया गया है।

XE वेरिएंट के लक्षण

XE variant ओमीक्रोन के दो वेरिएंट से मिलकर बना है तो ऐसे में माना जा रहा है कि इसके लक्षण भी ओमीक्रोन वेरिएंट से मिलते-जुलते हो सकते हैं। XE वेरिएंट में थकान, चक्कर आना, सिर दर्द, गले में खराश, बुखार, बदन दर्द, नाक बहना और डायरिया के लक्षण महसूस हो सकते हैं। इसके अलावा XE से संक्रमित मरीजों को भी कोरोना की तरह सूंघने और स्वाद में कमी महसूस हो सकती है।

कितना खतरनाक है XE वेरिएंट

अभी तक ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं, जो यह बताते हों कि XE वेरिएंट ओमीक्रोन के अन्य वेरिएंट से अलग है। तीन महीने पहले मिले इस वेरिएंट से अभी तक कोई बड़ा खतरा सामने नहीं आया है। XE वेरिएंट अभी तक चिंता का विषय नहीं है।

Leave a Comment