सिद्धू की पत्नी को कांग्रेस का जवाब, उनके पति की सहमति से ही हुआ था…

The News Air-पंजाब कांग्रेस के सीएम चेहरे के चयन पर नवजोत कौर सिद्धू के सवाल के बाद वरिष्ठ नेता चरणजीत चन्नी के बचाव में उतर आए हैं। कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य राजीव शुक्ला ने कहा कि सीएम चेहरे का फ़ैसला लोकतांत्रिक तरीक़े से हुआ। इस संबंध में नवजोत सिद्धू से बात हुई।
इसमें कैंपेन कमेटी चेयरमैन सुनील जाखड़ की राय ली गई। AICC के नेताओं के अलावा उम्मीदवारों से भी पूछा गया। जिसके बाद चरणजीत चन्नी के नाम की घोषणा हुई। उन्होंने कहा कि वह नवजोत सिद्धू की पत्नी का सम्मान करते हैं लेकिन उनकी बात पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।

चन्नी ग़रीब न हों लेकिन ग़रीब परिवार से

नवजोत कौर सिद्धू के ख़ुद को चन्नी से ग़रीब बताने के सवाल पर शुक्ला ने कहा कि चरणजीत चन्नी ग़रीब परिवार से हैं। उन्होंने ग़रीबी देखी है। ग़रीबी को झेला है। वह ग़रीब परिवार से उठकर यहां तक पहुंचे हैं।

सिद्धू और जाखड़ भी करेंगे प्रचार

राजीव शुक्ला ने कहा कि नवजोत सिद्धू और कैंपेन कमेटी चेयरमैन सुनील जाखड़ भी जल्द पंजाब में प्रचार करेंगे। सिद्धू भी अमृतसर ईस्ट से चुनाव लड़ रहे हैं। आने वाले दिनों में वह पूरे पंजाब में प्रचार करने के लिए जाएंगे।

बाग़ी कुछ नहीं बिगाड़ पाएंगे

राजीव शुक्ला ने कहा कि हर चुनाव में बाग़ी होते हैं। पंजाब चुनाव में बग़ावत करने वाले कुछ नहीं बिगाड़ पाएंगे। कांग्रेस का वोट बैंक है और वह कांग्रेस को ही मिलेगा। पंजाब में सीएम चरणजीत चन्नी के भाई डॉ. मनोहर सिंह, मंत्री राणा गुरजीत के बेटे सुल्तानपुर लोधी से चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा समराला से मौजूदा विधायक अमरीक ढिल्लों ही चुनाव मैदान में आ डटे हुए हैं।

मायावती UP और जयराम हिमाचल में ध्यान दें

शुक्ला ने कहा कि बसपा सुप्रीमो मायावती पंजाब में आकर प्रचार कर रही हैं। यहां उनका कोई आधार नहीं है। इसके बजाय उन्हें उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ना चाहिए। वहाँ जीत हासिल करनी चाहिए। वहाँ से तो मायावती ग़ायब हैं। इसी तरह हाल ही में 4 उपचुनाव हारे जयराम ठाकुर को हिमाचल प्रदेश पर फोक्स करना चाहिए। पड़ोस में ताकझांक नहीं करनी चाहिए।

Leave a Comment